सभी न्यायिक अधिकारियों को एक्स श्रेणी सुरक्षा देने के मामले में 17 अगस्त को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

Security of Judicial Officers सुप्रीम कोर्ट सभी न्यायिक अधिकारियों को एक्स श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने की मांग वाली याचिका पर 17 अगस्त को सुनवाई करेगा।

204
supreme court of india

New Delhi: Security of Judicial Officers सुप्रीम कोर्ट सभी न्यायिक अधिकारियों को एक्स श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने की मांग वाली याचिका पर 17 अगस्त को सुनवाई करेगा। वकील विशाल तिवारी ने जनहित याचिका (PIL) सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की है। इसमें केंद्र और सभी राज्यों सरकारों को इस संबंध में निर्देश देने का आग्रह किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट धनबाद में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश (एएसजे) उत्तम आनंद की मौत के मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई कर रहा है। इस याचिका पर भी उसी के साथ सुनवाई होगी। प्रधान न्यायाधीश (सीजेआइ) नथालपति वेंकट रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की तीन सदस्यीय पीठ मंगलवार को सुनवाई करेगी।

पीआइएल में सुप्रीम कोर्ट से आग्रह किया गया है कि वह सभी न्यायिक अधिकारियों और वकीलों को सुरक्षा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को जरूरी दिशा निर्देश लागू करने का निर्देश दें। तिवारी ने कहा है कि देश भर में जजों और वकीलों को धमकियां मिल रही हैं। न्यायिक अधिकारियों और वकीलों पर हमले बढ़े हैं।

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा- बच्चियों के यौन शोषण के मामलों में मुआवजा देने की जिम्मेदारी का पालन करें ट्रायल कोर्ट

उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए अदालत को तत्काल हस्तक्षेप करने की जरूरत है। बता दें कि धनबाद में जज उत्तम आनंद जब मार्निंग वाक के लिए निकले थे, इसी दौरान एक ऑटो से पीछे से धक्का मार दिया। सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि जानबुझकर ऑटो ने जज को टक्कर मारी है।

फिलहाल इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है। झारखंड सरकार ने दूसरे राज्यों में इसके तार जुड़े होने की आशंका पर सीबीआई जांच की अनुशंसा की थी। इसके अलावा इस मामले के जांच की झारखंड हाईकोर्ट निगरानी कर रही है। इस मामले में हाईकोर्ट में हर सप्ताह सुनवाई हो रही है।