Home high court news लालू की नवरात्र पूजा जेल में होगी या घर में, जमानत पर...

लालू की नवरात्र पूजा जेल में होगी या घर में, जमानत पर सुनवाई शुक्रवार को

रांची। चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद की जमानत पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। इस बार भी लालू प्रसाद नवरात्र की पूजा जेल में ही करेंगे या फिर अपने परिवार के साथ मंदिर में। यह तो शुक्रवार को सुनवाई के बाद ही तय हो पाएगा। फिलहाल लालू प्रसाद का इलाज रिम्स के निदेशक बंगले में हो रहा है। लालू प्रसाद के अधिवक्ता देवर्षि मंडल के अनुसार लालू प्रसाद की ओर से चाईबास कोषागार से अवैध निकासी मामले में जमानत देने की गुहार लगाई गई है।

इसे भी पढ़ेंः नाबालिग को जिंदा जलाने पर हाईकोर्ट का कड़ा रूख, कहा हाथरस जैसी घटना सिर्फ यूपी में नहीं, बल्कि झारखंड में भी हो रही

लालू की ओर से दाखिल जमानत याचिका में बढ़ती उम्र, किडनी, हृदय रोग सहित अन्य 16 तरीके की बीमारियों का हवाला दिया गया है। इसे अलावा इस मामले में सजा की आधी अवधि जेल में बिताने के आधार पर अदालत से जमानत देने की गुहार लगाई गई है। लालू प्रसाद की ओर से जुलाई में जमानत याचिका दाखिल की गई है। पिछली सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से अदालत को बताया गया कि लालू प्रसाद ने इस मामले में एक भी दिन जेल में नहीं काटी है।

वहीं, देवघर मामले में हाईकोर्ट से मिली जमानत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दाखिल की गई है, जो सुनवाई के लिए लंबित है। गौरतलब है कि लालू के खिलाफ झारखंड में पांच मामले चल रहे हैं। चाईबासा मामले में दो, देवघर, दुमका में लालू प्रसाद को सजा मिल चुकी है। वहीं, डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में अभी सुनवाई अभी निचली अदालत में चल रही है। चाईबासा वाले मामले में लालू प्रसाद को पांच साल की सजा मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ईवीएम में चुनाव चिन्ह की जगह लगे उम्मीदवार की तस्वीर, सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल कर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से राजनीतिक दलों के चुनाव चिन्ह हटाने और उनके स्थान...

राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों का हाईकोर्ट में लड़ा जाएगा मुफ्त में मुकदमा

रांची। अगर आप आर्थिक रूप से कमजोर हैं और आपको झारखंड हाईकोर्ट में मुकदमा करना है, तो न तो आपको हाईकोर्ट आना...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हाथरथ मामले की सीबीआई जांच की निगरानी करेगा इलाहाबाद हाईकोर्ट

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले की एक दलित लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और फिर...

हाईकोर्ट ने सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की मांगी सूची

जबलपुर। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने राज्य में पूर्व और मौजूदा सांसदों व विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की सूची मांगी है।...

Recent Comments