जेल से रंगदारी मांगने के मामले में झारखंड हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

रांचीः झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में जेल से मोबाइल के जरिए रंगदारी मांगने के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई हुई। इस दौरान अदालत ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है।

अदालत ने सरकार से पूछा है कि जेल में कैदियों तक मोबाइल फोन कैसे पहुंच जा रहे हैं। जेल से कैदियों का फोन इस्तेमाल करना बहुत ही गंभीर मामला है। अदालत ने सरकार को 18 दिसंबर को इस पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है।

इसे भी पढ़ेंः लालू प्रसाद को जेल शिफ्ट करने की मांग पर हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

इस संबंध में हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल की गई है। याचिका में कहा गया है कि रांची के जेलों से हाल के दिनों में अपराधियों ने कारोबारियों और अन्य लोगों से मोबाइल फोन से रंगदारी मांगी है। रंगदारी नहीं मिलने पर जान मारने की धमकी दी जा रही है।

इन शिकायतों की जांच के बाद पुलिस भी जेल से रंगदारी मांगे जाने की बात की पुष्टि कर रही है। याचिका में अदालत से सरकार को जेल मैन्युअल का पालन करने और जेल के अंदर प्रतिबंधित समान नहीं पहुंचने को सुनिश्चित करने का निर्देश देने का आग्रह किया गया।

Most Popular

आक्सीजन व दवाओं के हाहाकार पर सुप्रीम कोर्ट की चिंता, कहा- इमरजेंसी जैसे हालात

New Delhi: कोरोना संक्रमण के बीच लोगों को ऑक्सीजन और दवाइयों नहीं मिलने पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती दिखाई है। सुप्रीम...

दिल्ली हाई कोर्ट ने गोपनीयता नीति की जांच के खिलाफ दाखिल व्हाट्सऐप व फेसबुक की याचिका खारिज की

New Delhi: दिल्ली हाई कोर्ट ने व्हाट्स ऐप की नई गोपनीयता नीति की जांच करने के भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) के...

स्वास्थ्य सचिव कोरोना संक्रमित, जवाब दाखिल करने के लिए हाईकोर्ट से मांगा समय

Ranchi: झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में गुरुवार को कोरोना संक्रमण से निपटने...

Corona Good News: झालसा ने हर जिले में बनाया वार रूम, फ्री में मिलेंगी दवाएं और चिकित्सकीय सलाह

Ranchi: कार्यकारी अध्यक्ष जस्टिस अपरेश कुमार सिंह के निर्देश पर झालसा ने कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण में इलाज को लेकर परेशान...