Home high court news जस्टिस एसके द्विवेदी व जस्टिस दीपक रोशन को चीफ जस्टिस डॉ रवि...

जस्टिस एसके द्विवेदी व जस्टिस दीपक रोशन को चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन ने दिलाई शपथ

रांची। हाईकोर्ट के जस्टिस एसके द्विवेदी व जस्टिस दीपक रोशन ने मंगलवार को स्थायी जज के रूप में शपथ ली। हाईकोर्ट के ह्वाईट हाल में आयोजित सादे समारोह में चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन ने पहले जस्टिस एसके द्विवेदी और जस्टिस दीपक रोशन को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इससे पहले हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल अंबुज नाथ ने इनके स्थायी जज बनाए जाने के आदेश को पहले अंग्रेजी और बाद में हिंदी में पढ़कर सुनाया। कोरोना संक्रमण को देखते हुए पहली बार शपथ ग्रहण समारोह शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सिर्फ हाईकोर्ट के जज उपस्थित थे। हाईकोर्ट की ओर से शपथ ग्रहण समारोह का यूट्यूब पर ऑनलाइन प्रसारण किया गया है। गौरतलब है फरवरी 2019 में इनको हाईकोर्ट का एडिशनल जज बनाया गया था।

जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी का परिचय

जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी का जन्म तीन नवंबर 1965 को बिहार के औरंगाबाद में हुआ था। 1980 में इन्होंने हाई स्कूल की परीक्षा पास की। रांची विश्वविद्यालय से बीए करने के बाद इन्होंने छोटानागपुर लॉ कॉलेज से एलएलबी की पढ़ाई की। जनवरी 1994 से इन्होंने हाई कोर्ट में वकालत शुरू की। फरवरी 2019 में हाई कोर्ट के एडिशनल जज बने।

जस्टिस दीपक रोशन का परिचय

जस्टिस दीपक रोशन का जन्म 12 दिसंबर 1967 को रांची में हुआ था। इनके पिता स्व. केशव नंदन प्रसाद वरीय अधिवक्ता थे। रांची जिला स्कूल से इन्होंने हाई स्कूल पास किया और 1985 में मारवाड़ी कॉलेज से साइंस की डिग्री प्राप्त की। 1988 में इन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। फरवरी 2019 में इन्हें हाई कोर्ट का एडिशनल जज बनाया गया।

इसे भी पढ़ेंः अलकतरा घोटाले में सजायाफ्ता इलियास हुसैन की जमानत पर बुधवार को सुनवाई

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हाथरथ मामले की सीबीआई जांच की निगरानी करेगा इलाहाबाद हाईकोर्ट

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले की एक दलित लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और फिर...

हाईकोर्ट ने सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की मांगी सूची

जबलपुर। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने राज्य में पूर्व और मौजूदा सांसदों व विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की सूची मांगी है।...

झारखंड के कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले में पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को तीन साल की सजा

दिल्ली। दिल्ली स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को झारखंड के कोयला ब्लॉक के आवंटन में घोटाला...

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल को राहत, सीएम आवास का किराया भुगतान नहीं करने पर चल रही अवमानना की कार्यवाही पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बंगलों के लिए पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा किराए का भुगतान न करने के मामले में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल...

Recent Comments