हजारीबाग में नाबालिग को एसिड पिलाने के मामले में मांगा जवाब

रांची। झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में हजारीबाग की एक नाबालिक बच्ची को एसिड पिलाने के मामले सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि यह मामला बहुत गंभीर है, लेकिन अब तक की पुलिस की जांच से पता चल रहा है कि आरोपी को बचाया जा रहा है। इस मामले में अभी तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं करने पर अदालत ने नाराजगी जताई।

सुनवाई के दौरान हजारीबाग के एसपी और केस के जांच अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत में उपस्थित हुए। अदालत ने पूछा कि मामले के नामजद आरोपी को अब क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया है। जांच से ऐसा प्रतीत होता है कि सभी मिलकर आरोपी को बचा रहे हैं, ऐसा नहीं होना चाहिए। अदालत ने मामले में केस डायरी के साथ विस्तृत जवाब दाखिल करने का आदेश दिया।

इसे भी पढ़ेंः चीफ जस्टिस ने सरकार के दावे की खोली पोल, अदालत में ही मंगाया गुटखा

गौरतबल है कि दिसंबर 2019 में हजारीबाग की एक नाबालिग स्कूली छात्रा को कुछ लोगों ने जबरन एसिड पिला दिया। इसके बाद पीड़िता रिम्स सहित पटना में इलाज हुआ। वह दो माह तक कुछ नहीं बोल पाई। इसकी खबर अखबार में प्रकाशित होने के बाद हाईकोर्ट की अधिवक्ता अपराजिता भारद्वाज ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखा था। हाईकोर्ट ने मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए जनहित याचिका में बदल दिया और सुनवाई कर रही है।

Most Popular

छात्रों को निकालने का मामलाः HC ने कहा कि स्कूल छात्रों को वापस लेने पर विचार कर सकती है

रांचीः हजारीबाग के सेंट जेवियर स्कूल से निकाले गए छात्रों के मामले में सुनवाई करते हुए झारखंड हाई कोर्ट ने कहा है...

दुमका कोषागार मामलाः लालू प्रसाद ने हाईकोर्ट से जमानत पर जल्द सुनवाई की लगाई गुहार

रांचीः (Chara Ghotala) चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे (Lalu Yadav) लालू प्रसाद ने (Jharkhand High Court) झारखंड हाई कोर्ट में...

Lalu Yadav Health Update: बेहतर इलाज के लिए लालू प्रसाद भेजे जा सकते हैं दिल्ली एम्स

रांचीः Lalu Prasad Yadav Health Update बेहतर इलाज के लिए लालू प्रसाद यादव को रिम्स (RIMS) से दिल्ली स्थित (Delhi AIIMS) एम्स...

Lalu Yadav News: लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में हाईकोर्ट ने गृह विभाग से मांगा जवाब

रांचीः Lalu Prasad Yadav चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में अब पांच फरवरी...