विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की सजा रहेगी बरकरार या होंगे बरी, फैसला शुक्रवार को

रांची। विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा पाए पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह, उनके भाई दीनानाथ सिंह व रितेश सिंह के भाग्य का फैसला शुक्रवार को होगा। इस मामले में तीनों की सजा बरकरार रहेगी या फिर उन्हें बरी किया जाएगा। इस पर झारखंड हाईकोर्ट शुक्रवार को अपना फैसला सुनाएगी। प्रभुनाथ सिंह की अपील पर सुनवाई के बाद हाईकोर्ट की खंडपीठ ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

हाईकोर्ट के जस्टिस एके गुप्ता और जस्टिस राजेश कुमार की अदालत में यह मामला सूचीबद्ध है। मशरख के तत्कालीन विधायक अशोक सिंह की हत्या के मामले में प्रभुनाथ सिंह और उनके दो भाईयों को निचली अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनायी है। सजा के खिलाफ तीनों ने हाईकोर्ट में अपील दाखिल की है। इससे पहले उक्त मामले में तकनीकी परेशानियों की वजह से दो बार फैसला टल चुका है।

मार्च 1995 में विधायक अशोक सिंह की सरकारी आवास पर बम मारकर हत्या कर दी गई जब वह अपने आवास पर लोगों से मिल रहे थे। इस मामले में उनकी पत्नी चांदनी देवी ने पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह व उनके भाईयों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई। कहा गया कि राजनीतिक प्रतिद्वंदिता के चलते विधायक की हत्या की गई है। क्योंकि प्रभुनाथ सिंह को हराकर अशोक सिंह विधायक बने थे। इस मामले को उनकी पत्नी चांदनी देवी के आग्रह पर सुप्रीम कोर्ट ने हजारीबाग ट्रांसफर किया गया था। निचली अदालत ने इस मामले में तीनों को मार्च 2017 को सजा सुनाई थी।

इसे भी पढ़ेंः निजी स्कूल के फीस लेने संबंधी सरकार के आदेश के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में दाखिल हुई याचिका

Most Popular

झारखंड हाई कोर्ट से लालू यादव को मिली जमानत, जल्द आएंगे बाहर

Ranchi: Lalu Yadav bail चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू यादव को झारखंड हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है।...

सोना तस्करीः केरल हाईकोर्ट ने तस्करी मामले में ईडी अधिकारियों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी खारिज की

Kerala: केरल उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को राज्य सरकार को झटका देते हुए राज्य पुलिस द्वारा प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों के खिलाफ...

कोरोना की चपेट में कई सरकारी अधिवक्ता, महाधिवक्ता ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर सख्त आदेश न देने की लगाई गुहार

Ranchi: झारखंड में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ रहा है। इससे झारखंड हाई कोर्ट और वहां पक्ष रखने वाले अधिवक्ता भी...

कोरोना संक्रमण पर बार काउंसिल का आदेश, फिजिकल कोर्ट की सुनवाई में शामिल न हों वकील

Ranchi: Jharkhand State bar Council झारखंड स्टेट बार काउंसिल ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य के सभी जिलों के...