Home high court news पांच अफीम तस्करों को झारखंड हाई कोर्ट से मिली जमानत

पांच अफीम तस्करों को झारखंड हाई कोर्ट से मिली जमानत

रांची। झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस आर मुखोपाध्याय की अदालत ने सोमवार को अफीम की तस्करी के आरोपियों की जमानत पर सुनवाई की। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद अदालत ने सभी को सशर्त जमानत प्रदान की है। आरोपियों को दस-दस हजार रुपये के दो निजी मुचलके और रिश्तेदार को जमानतदार बनाने की शर्त पर जमानत दी है। जमानत मिलने वालों में चतरा का गोविंद सिंह व अर्जुन यादव और लातेहार का महेंद्र शामिल है। इन सभी की निचली अदालत से जमानत खारिज हो गई थी। इसके बाद इन्होंने हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी।

गौरतलब है कि अर्जुन यादव के घर से दो किलो अफीम बरामद हुआ था वहीं, महेंद्र गांव वालों को पैसे देकर अफीम की खेती कराता था। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। सुनवाई के दौरान अदालत ने सभी की जेल अवधि को देखते हुए जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया।

इसी अदालत में अफीम तस्करी के आरोप में जेल में बंद संजय नाग एवं पौलुस हास्सा की जमानत पर सुनवाई हुई। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जमानत की सुविधा प्रदान की। अधिवक्ता पवन रंजन खत्री ने बताया कि दोनों को अफीम तस्करी के आरोप में तीन जनवरी 2020 से जेल में है। दोनों के खिलाफ धुर्वा थाना कांड संख्या 2/20 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। निचली अदालत से जमानत नहीं मिलने के बाद बीते 16 जून को हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी।

वहीं, धनबाद के सहजाद कुरैशी को सौ ग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया गया। जस्टिस आर मुखोपाध्याय की अदालत ने इसे भी जमानत की सुविधा प्रदान कर दी। इस दौरान सरकार की ओर से अधिवक्ता रवि प्रकाश ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में अपना पक्ष रखा। बता दें कि सभी की निचली अदालत ने जमानत याचिका खारिज हो चुकी थी। इसके बाद इन लोगों ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर जमानत की गुहार लगाई थी।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ईवीएम में चुनाव चिन्ह की जगह लगे उम्मीदवार की तस्वीर, सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल कर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से राजनीतिक दलों के चुनाव चिन्ह हटाने और उनके स्थान...

राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों का हाईकोर्ट में लड़ा जाएगा मुफ्त में मुकदमा

रांची। अगर आप आर्थिक रूप से कमजोर हैं और आपको झारखंड हाईकोर्ट में मुकदमा करना है, तो न तो आपको हाईकोर्ट आना...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हाथरथ मामले की सीबीआई जांच की निगरानी करेगा इलाहाबाद हाईकोर्ट

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले की एक दलित लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और फिर...

हाईकोर्ट ने सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की मांगी सूची

जबलपुर। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने राज्य में पूर्व और मौजूदा सांसदों व विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की सूची मांगी है।...

Recent Comments