सृजन घोटालाः सीबीआई कोर्ट ने आठ आरोपियों के खिलाफ जारी किया गैर जमानतीय वारंट

Srijan Scam Case अरबों रुपये के बहुचर्चित सृजन घोटाले के एक मामले में पटना की सीबीआई कोर्ट ने आठ लोगों पर गिरफ्तारी का गैर जमानतीय वारंट जारी किया है।

224
court logo

Patna: Srijan Scam Case अरबों रुपये के बहुचर्चित सृजन घोटाले के एक मामले में पटना की सीबीआई कोर्ट ने आठ लोगों पर गिरफ्तारी का गैर जमानतीय वारंट जारी किया है। इसमें घोटाले की किंग स्व. मनोरमा देवी की बहू रजनी प्रिया भी शामिल हैं। इससे पहले कोर्ट ने इन आरोपितों को सीबीआई कोर्ट में उपस्थिति के लिए समन जारी किया था।

आरोपियों के कोर्ट में उपस्थित नहीं होने पर सीबीआई कोर्ट ने वारंट किया था। सीबीआई ने इसका तामिला कर कोर्ट को वापस कर दिया। इसके बाद सीबीआई के वकील के अनुरोध पर कोर्ट ने आठ आरोपितों पर गिरफ्तारी का गैर जमानती वारंट जारी किया।

घोटाला के इस मामले कोई भी सरकारी कर्मचारी नहीं है। सृजन महिला विकास समिति से जुड़े चार्टर्ड एकाउंटेट पुर्णेंदु कुमार, घोटाले की किंग पिंग स्व. मनोरमा देवी की बहू रजनी प्रिया, आरोपित सतीश कुमार झा, सीमा देवी, जेसमा खातून, राजरानी वर्मा, अर्पण वर्मा, रुबी कुमारी की गिरफ्तारी का गैर जमानती वारंट जारी किया गया है।

इसे भी पढ़ेंः हाईकोर्ट के भवन निर्माण विभाग से मूल फाइल मांगते ही जारी हो गया टेंडर

वहीं, इसी मामले की आरोपित सृजन महिला विकास समिति की मैनेजर सरिता झा और शुभ लक्ष्मी सृजन घोटाले के दूसरे अन्य मामले में न्यायिक हिरासत के तहत जेल में हैं। सीबीआई कोर्ट ने इन दोनों आरोपितों को कोर्ट में पेशी के लिए प्रोडक्शन वारंट जारी करने का निर्देश दिया है।

1 अरब 36 करोड़ 93 लाख 58 हजार रुपये के इस महाघोटाले के मामले में सीबीआई ने 10 गैर सरकारी लोगों के खिलाफ सीबीआई कोर्ट पटना में चार्जशीट दायर की थी। चार्जशीट और केस डायरी में पाए गए साक्ष्य के आधार पर सीबीआई कोर्ट पटना ने दस आरोपितों पर भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं के तहत संज्ञान लिया और आरोपितों की उपस्थिति के समन जारी किया था।

सृजन महिला विकास समिति की अध्यक्ष स्व. मनोरमा देवी, मैनेजर सरिता झा, मनोरमा देवी की बहू रजनी प्रिया और पुत्र अमित कुमार और अन्य कर्मचारियों ने बैंक से मिली भगत कर सरकारी रुपए का घोटाला वर्ष 2015 से 2016 के बीच किया। जिसमें एक आपराधिक साजिश और सरकारी दास्तावेज में छेड़छाड़ और हेराफेरी कर 1 अरब 36 करोड़ 93 लाख 58 हजार घोटाले करने का मामला प्रकाश में आया है। आरोपितों ने फर्जी मिनट बुक भी बना रखी थी।

राज्य के सबसे बड़े सृजन घोटाले के मामले में किंगपिंग स्व. मनोरमा देवी के पुत्र अमित कुमार और बहू रजनी प्रिया घोटाले के आधा दर्जन मामलों में फरार हैं। सीबीआई की टीम अबतक इन दोनों को गिरफ्तार नहीं कर पायी है। घोटाले के एक मामले में कोर्ट से कुर्की वारंट भी सीबीआई ले चुकी है। इन दोनों की गिरफ्तारी के बाद कई महत्वूर्ण राज खुलेंगें।