धनबाद जेल में शूटर अमन सिंह की हत्या पर हाई कोर्ट ने लिया संज्ञान, जेल आईजी को किया तलब

Firing in Dhanbad Jail: झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस संजय कुमार और जस्टिस आनंद सेन की खंडपीठ ने धनबाद जेल में अपराधी अमन सिंह की गोलीमार कर हत्या करने के मामले में स्वतः संज्ञान लिया है।

धनबाद मंडल कारा में हुई गोलीबारी को झारखंड हाई कोर्ट ने गंभीरता से लिया है। खंडपीठ ने मामले में मंगलवार यानी पांच दिसंबर को को जेल आईजी को वर्चुअल मोड में कोर्ट के समक्ष उपस्थित रहने को कहा है।

इस दौरान अदालत ने सरकार से जवाब मांगा है। अदालत ने पूछा है कि जेल में किस तरह हथियार पहुंच गए और जेल सुरक्षा में चूक का क्या कारण है। सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता राजीव रंजन एवं अधिवक्ता पियूष चित्रेश उपस्थित थे।

अमन सिंह हत्याकांड की एसआईटी कर रही जांच

अमन सिंह
अमन सिंह

राज्य सरकार की ओर से अधिवक्ता पीयूष चित्रेश ने अदालत को बताया कि सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठन किया गया है। वरीय अधिकारियों की टीम घटनास्थल पर जाकर जांच कर रही है।

अदालत को बताया गया कि सरकार पूरे घटना की समीक्षा कर रही है। पुलिस के वरीय अधिकारी वहां गए हुए हैं और हत्या की इस घटना पर जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। जेल आईजी भी घटना स्थल पर गए हैं, जो घटना की रिपोर्ट देंगे।

बता दें कि रविवार की दोपहर धनबाद में जेल में ही बंद शूटर अमन सिंह को सात गोली मारी गई थी, जिसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। अमन सिंह धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नेता नीरज सिंह हत्या मामले में जेल में बंद था।

Facebook PageClick Here
WebsiteClick Here
Rate this post
Share it:

Leave a Comment