नाबालिग को एसिड पिलाने के मामले में हाईकोर्ट जांच से नाराज, एसपी व जांच अधिकारी को किया तलब

रांची। झारखंड हाईकोर्ट ने हजारीबाग की नाबालिग को एसिड पिलाने के मामले में पुलिसिया जांच पर कड़ी नाराजगी जताई है। चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत ने कहा कि इस मामले अब की जांच से प्रतीत होता है कि पुलिस लीपापोती कर रही है। अदालत ने मौखिक रूप से कहा कि इस मामले में अगर ऐसा प्रतीत हुआ कि जांच सही दिशा में नहीं है तो वह इस मामले की जांच सीबीआई को भी सौंप सकती है। इसके बाद अदालत ने मामले की जांच अधिकारी और हजारीबाग एसपी को तलब किया है।

सरकार के जवाब में विरोधाभाष है। पहले कहा जाता है कि मामले का आरोपी फरार है और पुलिस उसे ट्रेस नहीं कर पा रही है, जबकि दूसरी बार में यह कहा जाता है कि आरोपित पॉलीग्राफी टेस्ट के लिए तैयार है। दरअसल, हजारीबाग के इचाक की रहने वाली नाबालिग को एसिड पिलाने का मामला सामने आया था। मीडिया में रिपोर्ट आने के बाद अधिवक्ता अपराजिता भारद्वाज ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखा था। इस पर संज्ञान लेकर अदालत मामले की सुनवाई कर रही है।

सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से बताया गया कि पुलिस जांच में ऐसा कोई साक्ष्य नहीं मिला है, जिससे आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जाए। इस पर अदालत ने कहा कि इस मामले में दस साल से लेकर उम्रकैद तक सजा होने वाली धारा लगाई गई है, ऐसे में आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ करनी चाहिए। पुलिस जांच से प्रतीत हो रहा है कि दोषी को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।

हाई कोर्ट की अधिवक्ता अपराजिता भारद्वाज

गौरतलब है कि हजारीबाग की इचाक रहने वाली एक नाबालिग को एसिड पिला दिया गया था। इसकी रिपोर्ट अखबार में छपी थी। इसके बाद अधिवक्ता अपराजिता भारद्वाज ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस घटना के चलते लड़की दो माह तक बोलने में असमर्थ थी।

Most Popular

आक्सीजन व दवाओं के हाहाकार पर सुप्रीम कोर्ट की चिंता, कहा- इमरजेंसी जैसे हालात

New Delhi: कोरोना संक्रमण के बीच लोगों को ऑक्सीजन और दवाइयों नहीं मिलने पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती दिखाई है। सुप्रीम...

दिल्ली हाई कोर्ट ने गोपनीयता नीति की जांच के खिलाफ दाखिल व्हाट्सऐप व फेसबुक की याचिका खारिज की

New Delhi: दिल्ली हाई कोर्ट ने व्हाट्स ऐप की नई गोपनीयता नीति की जांच करने के भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) के...

स्वास्थ्य सचिव कोरोना संक्रमित, जवाब दाखिल करने के लिए हाईकोर्ट से मांगा समय

Ranchi: झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में गुरुवार को कोरोना संक्रमण से निपटने...

Corona Good News: झालसा ने हर जिले में बनाया वार रूम, फ्री में मिलेंगी दवाएं और चिकित्सकीय सलाह

Ranchi: कार्यकारी अध्यक्ष जस्टिस अपरेश कुमार सिंह के निर्देश पर झालसा ने कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण में इलाज को लेकर परेशान...