ओएमआर शीट में गलत रोल नंबर सुधारने की कोर्ट ने नहीं इजाजत

रांची। झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में प्रारंभिक परीक्षा में गलत रोल नंबर लिखने के मामले में सुनवाई हुई। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अदालत ने याचिका को खारिज कर दिया। इसको लेकर प्रार्थी कुमार शानू यादव की ओर से हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है।

सुनवाई के दौरान प्रार्थी की ओर से कहा गया कि जेपीएससी की ओर से सहायक अभियंता की नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी किया गया था। जनवरी 2020 में प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन किया गया। इस दौरान प्रार्थी ने ओएमआर शीट में अपना रोल नंबर गलत भर दिया था। उन्हें इसमें सुधार करने का मौका मिला चाहिए। अदालत ने आयोग की कार्रवाई को उचित बताते हुए हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया। इसके साथ ही याचिका खारिज कर दी।

Most Popular

दल-बदल और बाबूलाल मरांडी को विधायक दल का नेता बनाने के मामले में सुनवाई 19 जनवरी को

-स्पीकर ने शपथपत्र दाखिल कर कहा स्वत: संज्ञान वाले मामले में कोई कार्रवाई नहीं करेंगे-विधायक दल के नेता के मान्यता का मामला...

दलबदल मामला: झारखंड हाई कोर्ट ने स्पीकर से मांगा जवाब, कल होगी सुनवाई

दल-बदल से जुड़े बाबूलाल मरांडी की याचिका पर झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत...

दलबदल मामला: सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड स्पीकर की याचिका खारिज की, कहा हाईकोर्ट वापस जाए

दलबदल मामले में झारखंड विधानसभा अध्यक्ष की ओर से दाखिल एसएलपी पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट के चीफ...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, सीएम बेअंत सिंह के हत्यारे राजोआना की मौत की सजा को बदलने पर 26 जनवरी तक विचार करे केंद्र सरकार

नयी दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र से कहा कि वह पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या मामले में...