झारखंड हाई कोर्ट ने रिश्वत लेने की आरोपी शिक्षा प्रचार पदाधिकारी को दी जमानत

रांची। झारखंड हाई कोर्ट में रिश्वत लेने के आरोपी ब्लाक शिक्षा प्रचार पदाधिकारी जया देवी जमानत पर सुनवाई हुई। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद जस्टिस एके चौधरी की अदालत ने जया देवी को सशर्त जमानत की सुविधा प्रदान कर दी। अदालत ने उन्हें दस-दस हजार रुपये के दो निजी मुचलके पर रिहा करने का आदेश दिया है। इसके अलावा अदालत ने इस मामले में जया देवी को सूचक को दस हजार रुपये मुआवजे के रुप देने का आदेश दिया है।

सुनवाई के दौरान जया देवी के अधिवक्ता ने अदालत में दलील देते हुए कहा कि उनकी उम्र 57 साल की है। ऐसे में उन्हें कई तरह की बीमारी है और करीब दो माह से जेल में बंद है। इसलिए उन्हें जमानत की सुविधा दी जाए। इस पर अदालत ने जेल की अवधि को देखते हुए जमानत की सुविधा प्रदान कर दी। जया देवी ने निचली अदालत से जमानत खारिज होने के बाद हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर जमानत की गुहार लगाई थी।

इसे भी पढ़ेंः सेंट जेवियर स्कूल ने नाबालिक छात्रों को निकाला, झारखंड हाई कोर्ट की शरण में पहुंचे विद्यार्थी

बता दें कि जया देवी धनबाद के बलियापुर में ब्लाक शिक्षा प्रसार पदाधिकारी के रूप में कार्यरत थी। इस दौरान एक शिक्षक की सर्विस बुक तैयार करने के लिए छह हजार रुपये रिश्वत की मांग की। शिक्षक ने इसकी शिकायत एसीबी से की। एसीबी ने इसका सत्यापन कराया और उसके बाद 21 मई 2020 को जया देवी को छह हजार रुपये लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया। इस दौरान एसीबी ने जया देवी के आवास पर छापेमारी की, जहां से 1 लाख रुपये से ज्यादा बरामद हुए।

Most Popular

हाई कोर्ट की तल्ख टिप्पणी- ऑक्सीजन की कमी से संक्रमित मरीजों की मौत नरसंहार से कम नहीं

Uttar Pradesh: ऑक्सीजन संकट पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एक सख्त टिप्पणी करते हुए अस्पतालों को ऑक्सीजन की आपूर्ति न होने से...

हाई कोर्ट ने निर्माण कंपनी से पूछा- रांची सदर अस्पताल में कितने दिनों में होगी ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक की व्यवस्था

Ranchi: हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत ने सदर अस्पताल में ऑक्सीजनयुक्त बेड शुरु होने...

हाई कोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला, कहा- तलाक के मामले में फैमिली कोर्ट एक्ट सभी धर्मों पर होगा लागू; निचली कोर्ट को सुनवाई का अधिकार

Ranchi: झारखंड हाई कोर्ट ने एक महत्वपूर्ण फैसला सुनाते हुए कहा है कि फैमिली कोर्ट एक सेक्युलर कोर्ट है। फैमिली कोर्ट एक्ट...

Oxygen Shortage: सुप्रीम कोर्ट की केंद्र सरकार को फटकार, कहा- नाकाम अफसरों को जेल में डालें या अवमानना के लिए रहें तैयार

New Delhi: Oxygen Shortage News: देश में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों के चलते राजधानी दिल्ली समेत देश भर में ऑक्सीजन के लिए...