Jharkhan High Court News: रेगुलर कोर्ट में सुनवाई की शुरूआत को लेकर अधिवक्ताओं नहीं दिख रहा उत्साह

रांची। झारखंड हाईकोर्ट में रेगुलर कोर्ट सुनवाई पर अधिवक्ताओं में उत्साह नजर नहीं आ रहा है। हाईकोर्ट की ओर इस मामले में मांगे गए मंतव्य का आंकड़ा दहाई तक भी नहीं पहुंचा है। कुछ अधिवक्ताओं ने रेगुलर कोर्ट में सुनवाई की बात कही है, लेकिन विपक्षी पार्टी की ओर से सहमति नहीं ली गई है। ऐसा प्रतीत होता है कि हाईकोर्ट के अधिवक्ता रेगुलर कोर्ट में सुनवाई को लेकर उत्साहित नहीं है।

इसको लेकर पिछले दिनों हाईकोर्ट के एडवोकेट एसोसिएशन की ओर से चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर कहा गया था कि हाईकोर्ट में रेगुलर कोर्ट की शुरुआत की जाए। इसके पीछे कई वजह भी गिनाई गई थी। इसको देखते हुए हाईकोर्ट ने दो नवंबर से दाखिल होने वाली नई याचिका व लंबित मामलों में पूछा था कि वे रेगुलर कोर्ट में सुनवाई चाहते हैं या नहीं। इसमें पक्ष व विपक्ष की सहमति के बाद कोर्ट को इसकी जानकारी भेजनी थी।

इसे भी पढ़ेंः Jharkhand High Court News: अधिवक्ता लिपिक संघ ने एडवोकेट वेलफेयर फंड में पांच फीसदी हिस्सेदारी मांगी

हाईकोर्ट की माने तो इसको लेकर अभी तक कोई खास आवेदन नहीं आए हैं। कुछ लोगों ने रेगुलर कोर्ट में सुनवाई की बात कही है, लेकिन विपक्षी पार्टी से सहमित नहीं होने की वजह से रेगुलर कोर्ट में सुनवाई नहीं हो सकती है। इस मामले में हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि कोरोना संक्रमण के चलते अभी भी अधिवक्ता रेगुलर कोर्ट शुरू करने पर सहमति नहीं दे रहे हैं।

एसोसिएशन का मानना है कि रेगुलर कोर्ट शुरू होने से आर्थिक संकट का सामना करने वाले अधिवक्ताओं को थोड़ी राहत मिलेगी। क्योंकि एसोसिएशन ने अपने पत्र में भी इसका जिक्र किया था। फिलहाल अधिवक्ताओं में रेगुलर कोर्ट शुरू करने में उत्साह नहीं दिखाने से लगता है कि इस साल हाईकोर्ट में ऑनलाइन सुनवाई ही होगी।

Most Popular

गुमला में टांगी से काटकर 5 की हत्या पर हाईकोर्ट ने कहा- घटना पूरे सिस्टम पर उठा रही सवाल, मुख्य सचिव व DGP से...

रांचीः झारखंड के (Gumla) गुमला जिले में एक ही परिवार के पांच लोगों की टांगी से काटकर हत्या के मामले में झारखंड...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- पत्नी पति की गुलाम नहीं, साथ रहने को नहीं कर सकते मजबूर

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि पत्नी अपने पति की गुलाम या विरासत नहीं होती...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार के विचार से असहमति वाली राय देशद्रोह नहीं

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में...

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश पलटते हुए कहा- सरकारी सेवाओं के भर्ती प्रक्रिया में लोगों का विश्वास होना चाहिए

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकारी सेवाओं के लिए भर्ती प्रक्रिया में लोगों का विश्वास होना चाहिए। अदालत ने कहा...