झारखंड हाईकोर्ट में चाहें तो फिजिकल या ऑनलाइन करें बहस

रांची। अगर आपको कोर्ट रूम में जज के सामने बहस करने का मन है या फिर कोरोना संकट को देखते हुए वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बहस करने का मन है, तो झारखंड हाईकोर्ट अब दोनों सुविधा देने जा रहा है। झारखंड हाईकोर्ट की ओर से इसको लेकर एक नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में कहा गया है कि हाईकोर्ट में नई याचिका दाखिल करते समय अधिवक्ता इस मामले की सुनवाई के विकल्प के बारे में कोर्ट को जानकारी दे सकते हैं।

यानि अगर उन्हें नई याचिका दाखिल करते समय ही बताना होगा कि वे इस मामले की लाइव कोर्ट में रूम में बहस करना चाहते हैं या फिर ऑनलाइन सुनवाई चाहते हैं। याचिका में इसका स्पष्ट उल्लेख करना होगा। ताकि कोर्ट प्रबंधन की ओर से उसी के तहत मामले की सुनवाई निर्धारित की जाए। नोटिस में यह भी कहा गया कि हाईकोर्ट में पूराने मामले में भी यह सुविधा दी जा रही है। अगर लंबित मामलों में फिजिकल सुनवाई की इच्छा है, तो प्रतिवादियों से इसके लिए कंसेंट लेकर मेंशन स्लीप पर इसका जिक्र करना होगा। इसके बाद मेंशन स्लीप को हाईकोर्ट को ई-मेल करना होगा।

Most Popular

गुमला में टांगी से काटकर 5 की हत्या पर हाईकोर्ट ने कहा- घटना पूरे सिस्टम पर उठा रही सवाल, मुख्य सचिव व DGP से...

रांचीः झारखंड के (Gumla) गुमला जिले में एक ही परिवार के पांच लोगों की टांगी से काटकर हत्या के मामले में झारखंड...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- पत्नी पति की गुलाम नहीं, साथ रहने को नहीं कर सकते मजबूर

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि पत्नी अपने पति की गुलाम या विरासत नहीं होती...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार के विचार से असहमति वाली राय देशद्रोह नहीं

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में...

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश पलटते हुए कहा- सरकारी सेवाओं के भर्ती प्रक्रिया में लोगों का विश्वास होना चाहिए

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकारी सेवाओं के लिए भर्ती प्रक्रिया में लोगों का विश्वास होना चाहिए। अदालत ने कहा...