processApi - method not exist
Home Supreme Court News Road Accident: सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला- सावधानी से गाड़ी चलाते समय...

Road Accident: सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला- सावधानी से गाड़ी चलाते समय टक्कर हो जाए तो अपने आप में लापरवाही नहीं

अगर कोई सावधानी से वाहन चलाता है और टक्कर से बचने में विफल रहता है तो यह अपने आप में लापरवाही नहीं मानी जा सकती है।

New Delhi: Road Accident सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सड़क हादसे के मामले में जिस व्यक्ति पर लापरवाही का आरोप लगाया जा रहा है, उसकी भूमिका चूक में होनी चाहिए। अगर कोई सावधानी से वाहन चलाता है और टक्कर से बचने में विफल रहता है तो यह अपने आप में लापरवाही नहीं मानी जा सकती है।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस हेमंत गुप्ता की अगुवाई वाली बेंच ने कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ एक महिला व उसके बच्चों की अपील पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की है। हाई कोर्ट ने कहा था कि महिला का पति जो दिवंगत हो चुके हैं वह भी लापरवाही के दोषी हैं।

इसे भी पढ़ेंः Snake bite: पत्नी को कोबरा से डंसवाकर मारने वाले पति को कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा

ट्रक से जब टक्कर लगी तब महिला के पति कार चला रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले को पलट दिया और कहा कि असाधारण सावधानी बरतकर टक्कर से बचने में नाकाम रहना अपने आप में लापरवाही नहीं है। शीर्ष अदालत ने कहा कि हाई कोर्ट का फैसला साक्ष्य पर आधारित नहीं है बल्कि सिर्फ एक अनुमान है।

हाई कोर्ट ने कहा था कि अगर ट्रैफिक नियमों के तहत सावधानी से वाहन चालक कार चलाता तो वह घटना नहीं होती। सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले को पलटते हुए कहा कि ऐसा कोई भी तथ्य रेकॉर्ड पर नहीं है कि कार चालक कार को मीडियम स्पीड से नहीं चला रहा था और उसने ट्रैफिक नियम नहीं माने।

सुप्रीम कोर्ट ने मृतक की पत्नी और बच्चों की अपील स्वीकार कर लिया और हाई कोर्ट के फैसले में बदलाव किया। सुप्रीम कोर्ट ने महिला और बच्चों को 9 फीसदी ब्याज के साथ 5 लाख रुपये भुगतान किए जाने का निर्देश दिया। घटना 10 फरवरी, 2011 की है। कार से ट्रक की टक्कर हो गई थी। आरोप है कि ट्रक चालक ने अचानक से ट्रक रोक दी थी और कार उससे टकरा गई थी जिस कारण कार चालक की मौत हो गई।

RELATED ARTICLES

Appointment of consumer courts: उपभोक्ता फोरम की रिक्तियों पर ढीले रवैये से सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- न्यायाधिकरण नहीं चाहिए तो कानून खत्म करे सरकार

New Delhi: Appointment of consumer courts सुप्रीम कोर्ट ने राज्य उपभोक्ता आयोगों और जिला उपभोक्ता फोरमों की रिक्तियां भरने में देरी पर...

Coal Transport: हजारीबाग में कोयले की ढुलाई मामले में केंद्र को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, कन्वेयर बेल्ट लगाने के एनजीटी के निर्देश पर रोक

New Delhi: Coal Transport झारखंड के हजारीबाग जिले में कोयले की अवैध ढुलाई और उसके भंडारण से संबंधित नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (NGT)...

Lakhimpur Kheri Violence : यूपी पुलिस पर भड़का सुप्रीम कोर्ट, कहा- जांच रिपोर्ट का रात एक बजे तक किया इंतजार

New Delhi: Lakhimpur Kheri Violence लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फिर से उत्तर प्रदेश पुलिस की धीमी जांच और...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Teacher appointment: हाईकोर्ट ने जेएसएससी के सचिव को जारी किया शो-कॉज

Ranchi: Teacher appointment झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस एसके द्विवेदी की अदालत में संस्कृत शिक्षक नियुक्ति मामले में दाखिल अवमानना याचिका पर सुनवाई हुई।...

Conspiracy to topple Hemant Government: 90 दिन में आरोप पत्र दाखिल नहीं कर पाई पुलिस, तीनों आरोपियों को मिली जमानत

Ranchi: Conspiracy to topple Hemant Government झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार को गिराने की साजिश में शामिल तीनों अभियुक्तों को अदालत से...

Appointment of consumer courts: उपभोक्ता फोरम की रिक्तियों पर ढीले रवैये से सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- न्यायाधिकरण नहीं चाहिए तो कानून खत्म करे सरकार

New Delhi: Appointment of consumer courts सुप्रीम कोर्ट ने राज्य उपभोक्ता आयोगों और जिला उपभोक्ता फोरमों की रिक्तियां भरने में देरी पर...

Coal Transport: हजारीबाग में कोयले की ढुलाई मामले में केंद्र को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, कन्वेयर बेल्ट लगाने के एनजीटी के निर्देश पर रोक

New Delhi: Coal Transport झारखंड के हजारीबाग जिले में कोयले की अवैध ढुलाई और उसके भंडारण से संबंधित नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (NGT)...