processApi - method not exist
Home high court news राहतः सरकार ने माना- आम्रपाली कोल परियोजना के विस्थापितों को मिले मुआवजा

राहतः सरकार ने माना- आम्रपाली कोल परियोजना के विस्थापितों को मिले मुआवजा

Amrapali Coal Project in Chatra सरकार की ओर से शपथ पत्र दाखिल किया गया और कहा गया कि वहां से विस्थापित हुए लोगों को मुआवजा, पुनर्वास और नौकरी मिलनी चाहिए।

Ranchi: Amrapali Coal Project in Chatra झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत में चतरा के आम्रपाली कोल प्रोजेक्ट के तहत विस्थापित हुए परिवारों की ओर से मुआवजा की मांग को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई हुई।

सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से शपथ पत्र दाखिल किया गया और कहा गया कि वहां से विस्थापित हुए लोगों को मुआवजा, पुनर्वास और नौकरी मिलनी चाहिए। इस पर सीसीएल की ओर से कहा गया कि इस मामले में राज्य सरकार की ओर से दाखिल जवाब उन्हें नहीं मिला है।

इसके बाद अदालत ने सरकार को सीसीएल को अपना जवाब की प्रति सौंपने का निर्देश दिया है।अदालत ने इस मामले में अगली सुनवाई आठ जुलाई को निर्धारित की है। सुनवाई के दौरान अधिवक्ता अपराजिता भारद्वाज और चंचल जैन ने अदालत को बताया कि वर्ष 1993-94 में जमीन अधिग्रहण हुआ था।

इसके बाद सीसीएल ने उस क्षेत्र में मगध एवं आम्रपाली कोल प्रोजेक्ट के तहत कोयला खनन का काम शुरू कर दिया। लेकिन सीसीएल की ओर से न तो विस्थापितों का पुनर्वास किया गया और न ही उन्हें उनकी जमीन का मुआवजा मिला।

इसे भी पढ़ेंः शिक्षक नियुक्तिः हाईकोर्ट ने आदेश का पालन नहीं होने पर सचिव को जारी किया शोकॉज

जबकि राज्य सरकार ने अपने जवाब में कहा है कि गैर मजरूआ जमीन पर तीस सालों से रहने वाले लोगों को भी मुआवजा मिलेगा। सीसीएल ने अपनी अन्य खदानों के लिए ली गई जमीन के बदले ऐसे लोगों को पहले मुआवजा दे चुकी है।

लेकिन इस क्षेत्र में मुआवजा नहीं दे रही है। इस दौरान सीसीएल की ओर से कहा गया कि राज्य सरकार का जवाब उन्हें नहीं मिला है। इस पर अदालत ने सरकार को निर्देश दिया कि वे अपने जवाब की प्रति सीसीएल को भेज दें।

RELATED ARTICLES

RTI: हाईकोर्ट ने कहा- सही समय पर सूचना नहीं देने पर सूचना आयोग के हर्जाने का आदेश बिल्कुल सही

Ranchi: RTI News झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य सूचना आयोग के उस आदेश को बरकरार रखा है, जिसमें आयोग की ओर से सही समय...

Promotion: हाईकोर्ट ने पूछा- एसडीओ पद पर प्रोन्नति की अधिसूचना जारी होगी या नहीं, स्थिति स्पष्ट करे सरकार

Ranchi: Promotion झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में डिप्टी कलेक्टर से एसडीओ (SDO) पद पर...

Land dispute: हाईकोर्ट ने कहा- राहत बढ़ाने के लिए दाखिल करें आवेदन, पूर्व डीजीपी की पत्नी पूनम पांडेय से जुड़ा मामला

Ranchi: Land dispute झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में राज्य के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

RTI: हाईकोर्ट ने कहा- सही समय पर सूचना नहीं देने पर सूचना आयोग के हर्जाने का आदेश बिल्कुल सही

Ranchi: RTI News झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य सूचना आयोग के उस आदेश को बरकरार रखा है, जिसमें आयोग की ओर से सही समय...

Promotion: हाईकोर्ट ने पूछा- एसडीओ पद पर प्रोन्नति की अधिसूचना जारी होगी या नहीं, स्थिति स्पष्ट करे सरकार

Ranchi: Promotion झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में डिप्टी कलेक्टर से एसडीओ (SDO) पद पर...

Land dispute: हाईकोर्ट ने कहा- राहत बढ़ाने के लिए दाखिल करें आवेदन, पूर्व डीजीपी की पत्नी पूनम पांडेय से जुड़ा मामला

Ranchi: Land dispute झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में राज्य के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय...

Police appointment: चार हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने दाखिल की हस्तक्षेप याचिका, 29 नवंबर को होगी सुनवाई

Ranchi: Police appointment झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में सिपाही नियुक्ति नियमावली को चुनौती...