Judge Uttam Anand murder case: आरोपियों के ब्रेन मैपिंग रिपोर्ट हाईकोर्ट को सौंपेगी सीबीआई

211
court logo

Dhanbad: Judge Uttam Anand murder case धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत मामले में गिरफ्तार ऑटो चालक लखन वर्मा एवं उसके सहयोगी राहुल वर्मा को दिल्ली सीबीआई क्राइम ब्रांच की टीम ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को वापस मंडल कारा धनबाद भेजने का आदेश दिया।

दोनों को विशेष सुरक्षा में गुजरात के अहमदाबाद से धनबाद लाया गया था। कोर्ट में पेश कराने से पूर्व दोनों की मेडिकल और कोरोना जांच कराई गई। न्यायालय में उनकी मेडिकल रिपोर्ट भी दी गई। 16 अगस्त को लखन और राहुल को ब्रेन मैपिंग, नार्को व पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए कोर्ट के आदेश पर गुजरात के गांधीनगर एफएसएल ले जाया गया था।

पुलिस एस्कार्ट प्रमुख इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार सिंह ने दोनों को एसडीजेएम सह सीबीआई की विशेष दंडाधिकारी शिखा अग्रवाल की अदालत में पेश किया। कोर्ट ने दोनों की लिखित रिपोर्ट मांगी। इसके बाद सीबीआई प्रभारी एसपी सह कांड के आईओ ने इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह को आरोपियों के जेल वापस भेजने संबंधी आवेदन देने को कहा।

इसे भी पढ़ेंः मद्रास हाईकोर्ट ने कहा- मेडिकल छात्रों से आठ घंटे से ज्यादा न लिया जाए काम

दोपहर करीब तीन बजे कड़ी सुरक्षा के बीच दोबारा इंस्पेक्टर दोनों को साथ लेकर कोर्ट पहुंचे। उन्होंने न्यायालय में आवेदन देते हुए दोनों आरोपियों को वापस न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने की प्रार्थना की। कोर्ट के आदेश पर दोनों को जेल भेज दिया गया। दोनों को तीन सितंबर तक कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया गया था।

लेकिन सीबीआई ने आवेदन जांच के लिए दोनों को सात सितंबर तक पेश करने की अनुमति मांगी थी। हालांकि जांच प्रक्रिया पूरी हो जाने के कारण सीबीआई ने पहले ही उन्हें जेल भेज दिया। सीबीआई की ओर से दोनों के टेस्ट से संबंधित कोई रिपोर्ट न्यायालय में नहीं सौंपी गई। माना जा रहा है कि अगले सप्ताह सीबीआई हाईकोर्ट में नार्को और ब्रेन मैपिंग की रिपोर्ट सौंप सकती है।