processApi - method not exist
Home Uncategorized चारा घोटालाः जहां लालू की बेटियां पढ़ती थी, वहीं से मिले थे...

चारा घोटालाः जहां लालू की बेटियां पढ़ती थी, वहीं से मिले थे घोटाले के अहम सबूत

डोरंडा कोषागार से 139.5 करोड़ की अवैध निकासी के मामले में रांची की सीबीआइ की विशेष अदालत में सुनवाई जारी है। इस दौरान गवाहों की गवाही कोर्ट में सुनाया जा रहा है। गवाह ने बताया कि पटना के बिशप स्कॉट गर्ल्‍स स्‍कूल में लालू यादव की 4 बेटियां पढ़ती थीं।

रांचीः चारा घोटाला के चार मामलों के सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को कहीं जमानत मिलने से पहले ही एक और मामले में जेल की सजा न मिल जाए। क्योंकि हाई कोर्ट ने आधी सजा में दो माह कम होने पर जमानत नहीं दी है।

लेकिन डोरंडा कोषागार से 139.5 करोड़ की अवैध निकासी के मामले में रांची की सीबीआइ की विशेष अदालत में सुनवाई जारी है। इस दौरान गवाहों की गवाही कोर्ट में सुनाया जा रहा है। गवाह ने बताया कि पटना के बिशप स्कॉट गर्ल्‍स स्‍कूल में लालू यादव की 4 बेटियां पढ़ती थीं।

यहीं से सीबीआई को अहम सबूत हाथ लगे थे। चारा घोटाले की जांच के क्रम में इस स्‍कूल में लालू के राजदारों से जुड़ी पूरी स्क्रिप्‍ट लिखे जाने की बात सामने आई है। अदालत में बहस के दौरान सीबीआई के वकील विशेष लोक अभियोजक ने खास गवाहों की गवाही पढ़कर सुनाई।

बीएमपी सिंह ने बिशप स्कॉट गर्ल्स स्कूल, पटना की प्राचार्या एन जैकब की गवाही के साक्ष्यों को अदालत में पढ़कर बताया कि लालू प्रसाद यादव की चार बेटियां बिशप स्कूल में पढ़ती थीं। जिनके स्थानीय अभिभावक के रूप में चारा घोटाले के किंगपिन श्याम बिहारी सिन्हा और बिहार के पूर्व मंत्री इलियास हुसैन के कर्मचारी सूरज का नाम अंकित था।

इसे भी पढ़ेंः धनबाद जेल वापस नहीं लाए जाने पर पूर्व विधायक संजीव सिंह ने जेल आईजी पर अवमानना चलाने की मांग की

जबकि सूरज कुमार ने बताया था कि उसने ऐसा कोलकाता के आपूर्तिकर्ता मो सईद के कहने पर किया था। चारा घोटाले के अभी तक के सबसे बड़े घोटाले में बहस अभी जारी है। अदालत ने बहस के लिए अगली तिथि छह अप्रैल मुकर्रर की है। बता दें कि आरसी 47/96 से जुड़े इस मामले में लालू प्रसाद यादव सहित 110 आरोपित ट्रायल फेस कर रहे हैं।

डोरंडा कोषागर से 139.5 करोड़ रुपये अवैध निकासी मामले में सीबीआइ के विशेष जज एसके शशि की अदालत में अभियोजन पक्ष की ओर से बहस चल रही है। लोक अभियोजक बीएमपी सिंह ने बहस के दौरान चारा घोटाले में पैसे के बंदरबांट के बारे में बताया।

सीबीआई के गवाह आपूर्तिकर्ता दिपेश चांडिक की गवाही का उल्लेख करते हुए चारा घोटाले में तत्कालीन सीएम लालू प्रसाद यादव, घोटाले के किंगपिंग पशुपालन विभाग के निदेशक रहे श्याम बिहारी सिन्हा और आपूर्तिकर्ता मो सईद के आपसी रिश्ते से अदालत को अवगत कराया।

बीएमपी सिंह ने कहा कि चारा घोटाले में आरोपी बनाये गए आपूर्तिकर्ता बिना चारा आपूर्ति के पैसे लेते थे। 20 प्रतिशत खुद रखकर बाकी के पैसे श्याम बिहारी सिन्हा को दिया जाता था। आपूर्तिकर्ता से प्राप्त रुपये का 30 प्रतिशत श्याम बिहारी सिन्हा खुद और केएम प्रसाद के बीच बांट लेते थे।

जबकि बाकी पैसे विभागीय अधिकारी, चिकित्सक, कोषागार के कर्मियों के बीच बांटे जाते थे। यह खेल अनवरत चलता रहा। सीबीआई की ओर से बहस पूरी होने के बाद आरोपियों की ओर से बहस होगी और उम्मीद है कि डोरंडा कोषागार मामले में जल्‍द ही सजा सुनाई जा सकती है।

RELATED ARTICLES

RIMS: हाईकोर्ट ने पूछा- रिम्स में कितने पद, कितने पर नियुक्ति और कितने पर संविदा के जरिए हो रहा काम

Ranchi: RIMS झारखंड हाईकोर्ट ने रिम्स से वहां पर रिक्त पदों की जानकारी मांगी है। कोर्ट ने पूछा है कि वर्तमान में...

FSL Lab: हाईकोर्ट ने पूछा- बिना जानकारी दिए विज्ञापन को कैसे लिया वापस, गृह सचिव तलब

Ranchi: FSL Lab झारखंड हाईकोर्ट में रांची फॉरेंसिक साइंस लैबरोटरी (FSL, Ranchi) में सुविधा बढ़ाने और रिक्त पदों पर नियुक्ति के मामले...

Salary: हाईकोर्ट ने सरकार को बकाया वेतन भुगतान करने का दिया निर्देश, ग्रामीण कार्य विभाग का मामला

Ranchi: Salary झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में वेतन पर लगी रोक को हटाने की मांग को लेकर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ANM Exam: हाई कोर्ट ने कहा- सभी छात्रों को 18 मई तक जारी करें एडमिट कार्ड

ANM Exam: झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी की अदालत में एएनएम और जीएनएम की परीक्षा का एडमिट कार्ड रद किए...

CM Lease case: हाई कोर्ट ने पूछा- रांची डीसी को खनन विभाग के व्यक्तिगत जानकारी कैसे

CM Lease case: झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन...

IAS Pooja Singhal case: ईडी ने कोर्ट से कहा- बड़े अधिकरियों और सत्ता के लोगों की भूमिका संदिग्ध

IAS Pooja Singhal case: खूंटी में वर्ष 2010 में हुए मनरेगा घोटाले की करोड़ों की राशि तत्कालीन उपायुक्त पूजा सिंघल को मिली...

JSSC News: प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के लिए आवेदन की तिथि बढ़ी, अभ्यर्थियों को बड़ी राहत

JSSC News: झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा में प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के...