processApi - method not exist
Home Association Factionalism: रांची जिला बार संघ में गुटबाजी से नुकसान, अनिश्चित काल के...

Factionalism: रांची जिला बार संघ में गुटबाजी से नुकसान, अनिश्चित काल के लिए बंद हुई रोजाना दो लाख की कमाई

देवेश आनंद (Ranchi): Factionalism रांची जिला बार संघ (Ranchi District Bar Association) की रोजना की कमाई दो लाख रुपये है। लेकिन नव निर्वाचित पदाधिकारियों की गुटबाजी की वजह से रोजना होने वाली कमाई ठप हो गई है। महासचिव संजय कुमार विद्रोही ने बार एसोसिएशन शपथ पत्र टिकट, बेल बांड, वकालतनामा, इनरोलमेंट फार्म सहित सभी अन्य फार्म की बिक्री पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है।

संजय कुमार विद्रोही की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में इसकी जानकारी दी गई है। इसमें कहा गया है कि ऐसा कदम इसलिए उठाया जा रहा है कि संघ के कार्यालय में एकाउंटेंट और लिपिक नहीं है। ऐसे में रोजाना होने वाली कमाई का हिसाब कैसे रखा जाएगा।

उन्होंने पंद्रह दिनों तक इसे संभालने की कोशिश की लेकिन नव निर्वाचित सदस्यों की गुटबाजी के कारण आगे ऐसा करना उचित प्रतीत नहीं हो रहा है। फॉर्म सहित अन्य दस्तावेजों की बिक्री बंद होने की वजह से बार संघ को रोजाना दो लाख रुपये का नुकसान होगा। सोमवार से ही इस पर रोक लगा दी गई है।

इसे भी पढ़ेंः Drug Case: एनसीपी नेता नवाब मलिक के दामाद समीर खान की आवाज के नमूने लेने के लिए एनसीबी ने कोर्ट में दिया आवेदन

महासचिव संजय कुमार विद्रोही ने कहा है कि इन दस्तावेजों की बिक्री से संघ को रोजाना करीब दो लाख रुपये मिलते हैं, जिससे बार संघ का खर्चा चलता है। लेकिन एडहॉक कमेटी के समय 19 लाख रुपये से ज्यादा के गबन को देखते हुए हिसाब में पारदर्शिता के लिए एकाउंटेंट और लिपिक की नियुक्ति होनी चाहिए।

उन्होंने नव निर्वाचित सभी सदस्यों की बैठक बुलाकर इसकी नियुक्ति करने का प्रयास किया, लेकिन गुटबाजी की वजह से ऐसा नहीं हो पाया है। इसलिए उनकी ओर से दोबारा 25 नवंबर को बैठक बुलाई गई है। ताकि नए एकाउंटेंट और लिपिक की नियुक्ति पर सहमति बन पाए।

संजय कुमार विद्रोही ने कहा कि रांची जिला बार संघ के 35 वकीलों का कोरोना काल में निधन हो गया है। नियमानुसार प्रत्येक परिवार को करीब करीब पांच लाख रुपये की सहायता राशि दिया जाता है। लेकिन यह कार्य भी अभी तक फंसा हुआ है। अगर सभी पदाधिकारी एकजुट होकर कार्य करें, तो दिवंगत वकीलों के परिवार वाले उक्त राशि का भुगतान जल्द से जल्द किया जा सकता है।

RELATED ARTICLES

Sexual Harassment: नाबालिग की मेडिकल जांच में देरी पर झालसा ने लिया संज्ञान

Ranchi: Sexual Harassment यौन उत्पीड़न की शिकार नाबालिग की मेडिकल जांच में देरी होने की प्रकाशित खबर पर झालसा के कार्यपालक अध्यक्ष...

RDBA: जिला बार संघ की बैठक में हंगामे के बीच कई प्रस्तावों को दी गई स्वीकृति

Ranchi: RDBA रांची जिला बार एसोसिएशन की आमसभा में हंगामे के बीच कई एजेंडे सहमति से पास किए गए। गुरुवार को नए...

Insurance scam: सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बीसीआई ने निलंबित किए यूपी के 28 वकील, 300 करोड़ की चपत से बची कंपनियां

New Delhi: Insurance scam बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) ने फर्जी मोटर बीमा दावा दायर करने वाले उत्तर प्रदेश के 28 वकीलों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Court News: बेटा होने पर शराब पार्टी के लिए पैसे नहीं देने पर टांगी से काटकर कर दी थी हत्या, तीन को आजीवन कारावास

Ranchi: Court News झारखंड के कोडरमा सिविल कोर्ट ने अमित हत्याकांड फैसला सुनाया है। अदालत ने टांगी से काट कर अमित की...

Scam: कृषि विभाग के प्रमुख अभियंता राघवेंद्र सिंह ने कोर्ट में किया सरेंडर

Ranchi: Scam वित्तीय अनियमितता के आरोपी कृषि विभाग के प्रमुख अभियंता राघवेंद्र सिंह ने रांची के एसीबी के विशेष अदालत में आत्मसमर्पण...

Mediation: रिश्तों की कड़वाहट खत्म हुई, जब आमने-सामने बैठे पति-पत्नी; अब जीवनभर रहेंगे साथ-साथ

Ranchi: Mediation रांची सिविल कोर्ट के मध्यस्थता केंद्र में विशेष मध्यस्थता अभियान चलाया गया। इस दौरान रिश्तों की कड़वाहट को भुलाकर तीन...

Jharkhand High Court decision: निर्वाचन सेवा के पदाधिकारी माने जाएंगे राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी

Ranchi: Jharkhand High Court decision झारखंड हाईकोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए कहा कि राज्य विभाजन के समय निर्वाचन सेवा में आए...