आदेश का पालन नहीं होने पर हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव, शिक्षा सचिव और 8 कुलपतियों को हाजिर होने का निर्देश दिया

अदालत ने अवमानना के एक मामले में सुनवाई करते हुए राज्य के आठ विश्वविद्यालयों के वीसी, मुख्य सचिव और शिक्षा सचिव को हाजिर होने का निर्देश दिया है। अदालत ने सभी को 22 मार्च को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में हाजिर होने को कहा है। है।

रांचीः झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस आनंद सेन की अदालत ने अवमानना के एक मामले में सुनवाई करते हुए राज्य के आठ विश्वविद्यालयों के वीसी, मुख्य सचिव और शिक्षा सचिव को हाजिर होने का निर्देश दिया है। अदालत ने सभी को 22 मार्च को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में हाजिर होने को कहा है। है।

शुक्रवार को अदालत सिदो-कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के डॉ. महादेव रविदास की ओर से दाखिल अवमानना वाद याचिका पर सुनवाई कर रही थी। इस दौरान प्रार्थी की ओर से अदालत को बताया गया कि रिवाइज पे निर्धारित करने को लेकर हाईकोर्ट पूर्व में आदेश दे चुकी है।

लेकिन कोर्ट के आदेश का अनुपाल नहीं किया जा रहा है। इस पर सरकार की ओर से अदालत को बताया गया कि इसी महीने की चार तारीख को शिक्षा विभाग ने रिवाइज पे निर्धारित करने का आदेश जारी करते हुए विश्वविद्यालय को भेज दिया था। लेकिन विश्वविद्यालय पैसा नहीं होने की बात कह रहा है।

इसे भी पढ़ेंः मनी लांड्रिंगः पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती को जारी ईडी के समन पर रोक से हाई कोर्ट का इन्कार

इस पर अदालत ने कहा कि ऐसे कई मामले अदालत में आते हैं जिनमें राज्य सरकार और विश्वविद्यालय एक दूसरे पर आरोप लगाते हैं। अब समय आ गया है कि विश्वविद्यालय और राज्य सरकार के विवाद को समाप्त कर दिया जाए। 

इसके बाद अदालत ने मुख्य सचिव, शिक्षा सचिव और विनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय धनबाद, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय रांची, झारखंड रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय, कोल्हान विश्वविद्यालय, चाईबासा, नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय पलामू, रांची विश्वविद्यालय रांची, सिदो-कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय दुमका और विनोबा भावे विश्वविद्यालय, हजारीबाग के कुलपतियों को ऑनलाइन हाजिर होने का निर्देश दिया।

Most Popular

भीख मांगना सामाजिक-आर्थिक मामला, गरीबी के कारण ही मजबूर होते हैं लोगः सुप्रीम कोर्ट

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि भीख मांगना एक सामाजिक और आर्थिक मसला है और गरीबी, लोगों को भीख मांगने के...

जासूसी मामलाः जांच समिति की रिपोर्ट अभियोजन का आधार नहीं हो सकती, सीबीआई कानून के मुताबिक जांच करेः सुप्रीम कोर्ट

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इसरो वैज्ञानिक नम्बी नारायणन से संबधित 1994 के जासूसी मामले में दोषी पुलिस अधिकारियों की...

विधायक खरीद-फरोख्त मामलाः HC में PIL दाखिल, कांग्रेसी विधायक अनूप सिंह के कॉल डिटेल की जांच की मांग

Ranchi: हेमंत सरकार (Hemant Government) को गिराने की साजिश का मामला अब झारखंड हाईकोर्ट पहुंच गया है। पंकज कुमार यादव की...

तमिलनाडु की पूर्व CM जयललिता की मौत की जांच की मांग को लेकर DMK ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका

New Delhi: तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता (Ex Tamil Nadu CM Jayalalithaa) की मौत की जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट...