Lalu Yadav: लालू यादव के लिए कल का दिन अहम, परिजन व समर्थक कर रहे पूजापाठ

Lalu Yadav, Lalu Prasda bail चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू यादव के लिए कल का दिन बहुत अहम होने वाला है। शनिवार को झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में उनकी जमानत पर सुनवाई होने वाली है।

Ranchi: Lalu Yadav, Lalu Prasad bail चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू यादव के लिए कल का दिन बहुत अहम होने वाला है। शनिवार को झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में उनकी जमानत पर सुनवाई होने वाली है। अगर उन्हें जमानत मिलती है, तो लालू प्रसाद यादव जेल से बाहर निकल जाएंगे। इसको लेकर उनके बेटे तेजस्वी यादव और परिजन पूजापाठ कर रहे हैं।

सीबीआई उन्हें जेल से बाहर नहीं निकलने को लेकर प्रयास कर रही है। लालू के अधिवक्ता देवर्षि मंडल को पिछली सुनवाई के दौरान ही लालू यादव को जमानत मिलने की उम्मीद थी, क्योंकि लालू यादव ने दुमका कोषागार मामले में सजा की आधी अवधि पूरी कर ली थी। लेकिन सीबीआई ने सुनवाई के दौरान ऐसा पैंतरा चला कि लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल और देवर्षि मंडल हैरान रह गए।

इसे भी पढ़ेंः सैनिक मार्केट के निदेशक की नियुक्ति को हाई कोर्ट में दी गई चुनौती, वित्तीय अनियमितता का भी लगा आरोप

सीबीआई ने इस मामले में जवाब दाखिल करने के लिए एक सप्ताह का समय मांग लिया। इस दौरान कपिल सिब्बल ने आशंका सही बताते हुए कहा कि उन्होंने पिछली सुनवाई को ही कोर्ट के अवगत कराया था कि लालू के आवेदन के बाद सीबीआई की ओर से जरूर समय मांगा जाएगा। जबकि पिछली सुनवाई में ही सीबीआई की ओर से सारी बातें अदालत में कह दी गई थी, ऐसे में अब उनके पास कुछ भी कहने को नहीं बचा है।

सीबीआई जानबूझ कर लालू यादव को जेल से बाहर नहीं निकलने देना चाहती है। सीबीआई की ओर से अदालत में दाखिल जवाब में कहा गया है कि लालू की जमानत पर सुनवाई करने का कोई औचित्य नहीं है, क्योंकि लालू यादव को सीबीआई कोर्ट ने कुल 14 साल की सजा सुनाई है। ऐसे में उन्हें सात साल तक जेल में रहना होगा, जो कि सजा की आधी अवधि होती है।

बहरहाल, अब सबकी नजरें कल हाई कोर्ट में होने वाली सुनवाई पर टिकी हैं। लालू यादव का दावा है कि उन्होंने सजा की आधी अवधि पूरी कर ली है। इसी आधार उनके परिजन और लालू के समर्थकों का मानना है कि लालू यादव को शनिवार को जमानत मिल जाएगी। हालांकि लालू प्रसाद यादव का इलाज दिल्ली स्थित एम्स में चल रहा है।

Most Popular

हाई कोर्ट की तल्ख टिप्पणी- ऑक्सीजन की कमी से संक्रमित मरीजों की मौत नरसंहार से कम नहीं

Uttar Pradesh: ऑक्सीजन संकट पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एक सख्त टिप्पणी करते हुए अस्पतालों को ऑक्सीजन की आपूर्ति न होने से...

हाई कोर्ट ने निर्माण कंपनी से पूछा- रांची सदर अस्पताल में कितने दिनों में होगी ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक की व्यवस्था

Ranchi: हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत ने सदर अस्पताल में ऑक्सीजनयुक्त बेड शुरु होने...

हाई कोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला, कहा- तलाक के मामले में फैमिली कोर्ट एक्ट सभी धर्मों पर होगा लागू; निचली कोर्ट को सुनवाई का अधिकार

Ranchi: झारखंड हाई कोर्ट ने एक महत्वपूर्ण फैसला सुनाते हुए कहा है कि फैमिली कोर्ट एक सेक्युलर कोर्ट है। फैमिली कोर्ट एक्ट...

Oxygen Shortage: सुप्रीम कोर्ट की केंद्र सरकार को फटकार, कहा- नाकाम अफसरों को जेल में डालें या अवमानना के लिए रहें तैयार

New Delhi: Oxygen Shortage News: देश में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों के चलते राजधानी दिल्ली समेत देश भर में ऑक्सीजन के लिए...