processApi - method not exist
Home National News "ग्रहण" वेब सीरिज पर लग सकता है ग्रहण, एआईएसएस ने निर्माता-निर्देशक को...

“ग्रहण” वेब सीरिज पर लग सकता है ग्रहण, एआईएसएस ने निर्माता-निर्देशक को भेजा कानूनी नोटिस

हॉटस्टार पर आने वाली "ग्रहण" वेब सीरिज मुश्किलों में पड़ने वाली है। इसपर रोक लगाने के लिए ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट्स फेडरेशन ने वेब सीरिज के निर्माता, निर्देशक और हॉटस्टार के अध्यक्ष को कानूनी नोटिस भेजा है।

Ranchi: हॉटस्टार पर आने वाली “ग्रहण” वेब सीरिज मुश्किलों में पड़ने वाली है। इसपर रोक लगाने के लिए ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट्स फेडरेशन ने वेब सीरिज के निर्माता, निर्देशक और हॉटस्टार के अध्यक्ष को कानूनी नोटिस भेजा है। इसको लेकर ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट्स फ़ेडरेशन के पूर्वी भारत अध्यक्ष सतनाम सिंह गंभीर ने कहा कि 1984 में सिख विरोधी दंगों के जख्म बार-बार कुरेदे जाते है चाहे राजनीतिक फ़ायदे के लिए हो या फ़िल्म के माध्यम से पैसा कमाने का तरीका हो।

एक बार फिर से हॉटस्टार चैनल पर “ग्रहण” वेब सिरिंज 24 जून को रिलीज होने जा रही है जिसमें भ्रमित करने वाले दृश्य ओर गलत तथ्यों को पेश किया गया है। इसे रोकने के लिए सतनाम सिंह गंभीर ने झारखंड हाई कोर्ट के अधिवक्ता दिवाकर उपाध्याय एवं दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट के अधिवक्ता हरप्रीत सिंह होरा के माध्यम से ग्रहण वेब सीरिज के डायरेक्टर, प्रोड्यूसर एवं हॉटस्टार के अध्यक्ष को कानूनी नोटिस भेजकर ग्रहण वेब सीरिज को रिलीज ना करने के लिए कहा है।

इसे भी पढ़ेंः एक साल तक जमानत याचिका पर सुनवाई नहीं होने से सुप्रीम कोर्ट खफा

इसके बावजूद वेब सिरिज को रिलीज किया गया तो उपरोक्त लोगों पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 1984 सिख विरोधी दंगों में झारखंड के पीड़ित परिवारों को इंसाफ दिलाने के लिए झारखंड हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर करने वाले सतनाम सिंह गंभीर ने कहा कि उपरोक्त वेब सीरिज के ट्रेलर में 2016 में झारखंड हाई कोर्ट द्वारा एसआइटी का गठन दिखाया गया है।

सतनाम सिंह गंभीर की याचिका पर एक सदस्य आयोग का गठन कर सेवानिवृत्त जस्टिस डीपी सिंह को आयोग का चेयरमैन बनाया गया था। लेकिन वेब सीरिज में सिटी एसपी अमृता सिंह को एसआइटी का प्रमुख दर्शाया गया है जो की सरासर गलत है। इसके अलावा एक पगड़ीधारी सिख को दंगाई और गलत तथ्यों को दिखाकर हजारों पीड़ित परिवारों के जख्मों को कुरेदने का काम किया जा रहा है। सतनाम सिंह गंभीर ने श्रीअकाल तख़्त के जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी हरप्रीत सिंह एवं शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की अध्यक्ष बीबी जागीर कौर को इसकी जानकारी देकर इस मामले में दखल की मांग की है।

RELATED ARTICLES

सुप्रीम कोर्ट के जज बोले- सत्ता बचाने के लिए सरकारें झूठ बोलती हैं, पर्दाफाश करें बुद्धिजीवी

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि फेसबुक और ट्विटर जैसे प्लैटफॉर्म को भी झूठी खबरों पर...

काशी विश्वनाथ मंदिर: जमीन की अदला-बदली के खिलाफ कोर्ट जाएंगे वादमित्र

Varanasi: भगवान विश्वेश्वरनाथ (बाबा काशी विश्वनाथ) के वादमित्र विजयशंकर रस्तोगी ने ज्ञानवापी परिसर स्थित जमीन की सुन्नी वक्फ बोर्ड और मंदिर प्रशासन...

सीजेआइ ने कहा-अदालती कार्यवाही का सजीव प्रसारण दोधारी तलवार, गुजरात हाईकोर्ट की कार्यवाही का शुरू हुआ सजीव प्रसारण

New Delhi: अदालती कार्यवाही के सजीव प्रसारण (Live Streaming) के जरिए न्यायप्रणाली में पारदर्शिता की पैरवी करते हुए प्रधान न्यायाधीश (CJI) एनवी...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Late Fee: कॉलेजों द्वारा छात्रों से विलंब शुल्क वसूलने पर हाईकोर्ट सख्त, कहा- यह तो धोखाधड़ी है

Lucknow: Late Fee इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने डिग्री कालेजों द्वारा अपने छात्रों से विलंब शुल्क वसूलने पर सख्त नाराजगी जताई...

RTI: हाईकोर्ट ने कहा- सही समय पर सूचना नहीं देने पर सूचना आयोग के हर्जाने का आदेश बिल्कुल सही

Ranchi: RTI News झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य सूचना आयोग के उस आदेश को बरकरार रखा है, जिसमें आयोग की ओर से सही समय...

Promotion: हाईकोर्ट ने पूछा- एसडीओ पद पर प्रोन्नति की अधिसूचना जारी होगी या नहीं, स्थिति स्पष्ट करे सरकार

Ranchi: Promotion झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में डिप्टी कलेक्टर से एसडीओ (SDO) पद पर...

Land dispute: हाईकोर्ट ने कहा- राहत बढ़ाने के लिए दाखिल करें आवेदन, पूर्व डीजीपी की पत्नी पूनम पांडेय से जुड़ा मामला

Ranchi: Land dispute झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में राज्य के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय...