राष्ट्रीय लोक अदालत में 29733 मामलों का निपटारा, 106 करोड़ का भुगतान

शनिवार को (Jharkhand High Court) झारखंड हाईकोर्ट सहित पूरे राज्य में राष्ट्रीय लोक अदालत (National Lok Adalat) का आयोजन किया गया।

204
National Lok Adalat

Ranchi: (Jharkhand High Court) झारखंड हाईकोर्ट सहित पूरे राज्य में राष्ट्रीय लोक अदालत (National Lok Adalat) का आयोजन किया गया। इस दौरान पूरे राज्य में 29733 मामलों का निष्पादन हुआ। जिसमें 11538 लंबित मामले और 18195 प्रीलिटिगेशन मामले शामिल हैं। इस दौरान कुल 106.26 करोड़ रुपये का भुगतान पक्षकारों को किया गया।

लोक अदालत के लिए हाईकोर्ट में सात बेंच बनाई गई थी, जिसमें कुल 163 लंबित मामलों का निपटारा किया गया और सीसीएल की ओर से अनुकंपा के आधार पर 33 लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपा गया। राज्य की निचली अदालतों में 223 बेंच बनाई गई थी। इस बार वर्चुअल और जरूरी मामलों में लोगों की उपस्थिति में लोक अदालत का आयोजित किया गया।

रांची में मध्यस्थता से सुलझा 11 साल पुराना मामला
रांची सिविल कोर्ट में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 11 साल पुराने विवाद को सुलझाने में सफलता मिली है। दुर्गा बिल्डिंग कंपनी के निदेशक दुर्गा झा उनके पार्टनर अंबुजा शरण के बीच बिल्डिंग को बनाने को लेकर विवाद वर्ष 2010 में हुआ था।

इसे भी पढ़ेंः शिक्षक नियुक्ति मामलाः सुप्रीम कोर्ट ने कहा- झारखंड के गैर अनुसूचित जिलों की नियुक्ति पर नहीं है रोक

अंबुजा शरण ने दुर्गा के खिलाफ पांच लाख रुपये के चेक से संबंधित मामला कोर्ट में दाखिल किया। इसके बाद दुर्गा झा ने भी अंबुजा पर 22 लाख रुपये रिकवरी के लिए सिविल कोर्ट में याचिका दाखिल किया। इसे मध्यस्थता में सुलझाने के लिए भेजा गया था। 11 साल बाद दोनों पक्षों में इस बात को लेकर सहमति बनी कि भविष्य में वे एक-दूसरे पर कोई दावा नहीं करेंगे। इसके बाद मामले का निष्पादन कर दिया गया।

सड़क दुर्घटना के पीड़ित को मिला 4.35 लाख
लापुंग के रहने वाले जंगू उरांव सड़क दुर्घटना में घायल हो गए थे। इस दुर्घटना में उनके पैर कई जगहों से फैक्चर हो गया था। उनकी ओर से मोटर वाहन दुर्घटना कोर्ट में याचिका दाखिल किया गया। इस बार के राष्ट्रीय अदालत में सुलह के आधार इंश्योरेंस कंपनी से उन्हें 4,35,000 रुपये का मुआवजा दिया गया।