एडवोकेट एसोसिएशन व लिपिक संघ में तनातनी, लिपिक संघ कार्य से दूर; एसोसिएशन कह रहा हो रही फाइलिंग

झारखंड हाई कोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन ने हाई कोर्ट में सुनवाई में वकीलों के शामिल होने की छूट प्रदान की है। ऐसे में अधिवक्ता लिपिक संघ इसका विरोध कर रहा है।

103
Jharkhand High Court

Ranchi: Jharkhand News झारखंड स्टेट बार काउंसिल के निर्देश पर अधिवक्ता कोर्ट की सुनवाई से स्वयं को अलग रखा है, लेकिन इस बीच झारखंड हाई कोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन ने हाई कोर्ट में सुनवाई में वकीलों के शामिल होने की छूट प्रदान की है। ऐसे में अधिवक्ता लिपिक संघ इसका विरोध कर रहा है।

अधिवक्ता लिपिक संघ का कहना है कि वे स्टेट बार काउंसिल के आदेश के साथ हैं। 30 मई तक अदालती कार्यवाही में वे शामिल नहीं होंगे। यानि नई याचिकाएं हाई कोर्ट में दाखिल नहीं की जाएगी। लेकिन इधर एडवोकेट एसोसिएशन का कहना है कि नई याचिकाएं दाखिल की जा रही है।

इसे भी पढ़ेंः हाईकोर्ट ने माना- सिर्फ कैडर बदलने से नहीं, बल्कि मूल निवासी होने पर ही नियुक्ति में मिलेगा आरक्षण का लाभ; एकलपीठ का आदेश खारिज

एसोसिएशन के पदाधिकारी धीरज कुमार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि एसोसिएशन की अध्यक्ष ऋतु कुमार और महासचिव नवीन कुमार ने अधिवक्ता लिपिकों को याचिका दाखिल करने में आने वाली परेशानियों को जाना और उसे दूर करते हुए याचिकाएं दाखिल की गई हैं।

इधर, लिपिक संघ के अध्यक्ष डीसी मंडल ने कहा कि वे पूरी तरह से अदालती कार्यवाही से दूर हैं। अगर कोई भी अधिवक्ता लिपिक इसका उल्लंघन करता है, तो उनके खिलाफ संघ की ओर से कार्यवाही की जाएगी। बहरहाल हाई कोर्ट में अभी ग्रीष्मावकाश चल रहा है।