राहतः रांची सिविल कोर्ट में आज से होगी आमने-सामने की सुनवाई, हर दिन बदलेगी व्यवस्था

Physical Hearing in Jharkhand झारखंड हाई कोर्ट के आदेश के बाद अब राज्य की निचली अदालतों में फिजिकल सुनवाई शुरू होने लगी है।

212
civil court of ranchi

Ranchi: Physical Hearing in Court झारखंड हाई कोर्ट के आदेश के बाद अब राज्य की निचली अदालतों में फिजिकल सुनवाई शुरू होने लगी है। इसको लेकर सभी अधिवक्ताओं में खुशी है। इस बीच रांची सिविल कोर्ट के अधिवक्ताओं के लिए राहत भरी खबर है। सिविल कोर्ट में आज से हाईब्रिड मोड पर सुनवाई शुरू हो रही है। रांची सिविल कोर्ट में 50 फीसदी कोर्ट फिजिकल मोड पर एवं 50 फीसदी कोर्ट वर्जुअल मोड पर सुनवाई करेगा।

फिजिकल कोर्ट शुरू होते ही अदालत में अधिवक्ताओं की चहल-पहल बढ़ जाएगी। हाई कोर्ट के निर्देश पर सिविल कोर्ट के प्रधान न्यायायुक्त नवनीत कुमार ने न्यायिक पदाधिकारियों के साथ बैठक कर ऐसा करने का निर्णय लिया। इसके बाद उनकी ओर से आदेश जारी किया गया है। आदेश के अनुसार आधे कोर्ट वर्चुअल चलेंगे और आधे को फिजिकल मोड में सुनवाई होगी।

इसे भी पढ़ेंः प्रोन्नतिः अधिसूचना जारी नहीं करने पर हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव से मांगा जवाब, एडिशनल कलेक्टर के पद पर होनी है प्रोन्नति

फिजिकल और वर्चुअल सुनवाई की व्यवस्था हर दूसरे दिन बदलेगी। अधिवक्ताओं को भी निर्देश दिया गया है कि कोरोना से संबंधित सभी गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करते हुए ही फिजिकल कोर्ट में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं। इसको लेकर पूर्व में ही झारखंड हाईकोर्ट ने गाइडलाइन बना दी है। जिसकी कॉपी सभी जिला जजों को भी भेजी गई है।

दरअसल, कोरोना संक्रमण के पहले चरण में 10 महीने बाद दो फरवरी 2021 को फिजिकल सुनवाई प्रारंभ हुई थी। इसे कोरोना संक्रमण के बढ़ने के कारण 31 मार्च को फिजिकल कोर्ट को बंद करना पड़ा। वर्चुअल मोड में सुनवाई होने के कारण सिर्फ 20 फीसदी अधिवक्ता ही सुनवाई में शामिल हो पा रहे थे।

इस दौरान दीवानी मामलों की सुनवाई पूरी तरह से प्रभावित रही। फिजिकल कोर्ट प्रारंभ होने से दीवानी मामलों के अधिवक्ता के अन्य अधिवक्ता भी अब न्यायिक कार्य में भाग ले सकेंगे। फिजिकल सुनवाई शुरू करने की मांग झारखंड स्टेट बार काउंसिल के साथ सभी अधिवक्ता कर रहे थे।