सुप्रीम कोर्ट के सामने आग लगाने वाली युवती दुष्कर्म पीड़िता, सांसद के खिलाफ दर्ज कराया है रेप का मामला

Delhi Fire News सुप्रीम कोर्ट के सामने एक महिला और पुरुष के आत्महत्या करने की कोशिश का मामला सामने आया है।

261
girl set fire in front of the Supreme Court

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट के सामने एक महिला और पुरुष के आत्महत्या करने की कोशिश का मामला सामने आया है। घटना के बाद वकीलों की मदद से पीड़ित महिला-पुरुष को तत्काल नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उनका इलाज चल रहा है। डॉक्टरों ने युवती को 85 फीसद और युवक को 65 फीसद जलना बताया है। फिलहाल युवती के बच पाने की संभावना कम है।

युवती सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता बताई जा रही है। अब पुलिस यह पता लगा रही है कि युवती के साथ दुष्कर्म हुआ था या सामूहिक दुष्कर्म। जानकरी के मुताबिक, आत्मदाह करने वाली महिला ने उत्तर प्रदेश के घोसी से सांसद अतुल राय के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज कराया है। पुरुष इस मामले का गवाह है। खुद को आग लगाने से पहले इन दोनों ने सोशल मीडिया पर लाइव किया था। इसमें महिला ने खुद को रेप पीड़िता बताया और कहा कि तमाम कोशिशों के बावजूद अब तक न्याय नहीं मिला।

इसे भी पढ़ेंः राहतः रांची सिविल कोर्ट में आज से होगी आमने-सामने की सुनवाई, हर दिन बदलेगी व्यवस्था

जानकारी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के बाहर सोमवार को अचानक एक महिला और एक पुरुष ने अपने ऊपर तरल पदार्थ छिड़ककर आग लगा दी और जान देने की कोशिश की। दोनों ने सुप्रीम कोर्ट के गेट के बाहर ही खुद को आग लगा ली। दोनों ने गेट नंबर डी से अंदर घुसने की कोशिश की थी, लेकिन पर्याप्त आइडी नहीं होने कारण सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें रोक लिया।

इसके बाद दोनों ने खुद को आग लगा ली। फिलहाल दोनों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल लाया गया है। पुलिस को मौके से एक बोतल भी मिली है। आशंका है कि बोतल में ही ज्वलनशील पदार्थ साथ लेकर दोनों आए थे। युवती बलिया (उत्तर प्रदेश) की रहने वाली है। पीड़िता के मुताबिक, बलिया में ही सामूहिक दुष्कर्म हुआ था।

वहां की अदालतों में उसे न्याय नहीं मिला। इसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा था। सोमवार को सुनवाई होनी थी। इससे पहले युवती ने अचानक अपने ऊपर ज्वलनशील पदार्थ डाल कर आग लगा ली। वहीं, इसके साथ आए युवक का नाम सत्यम प्रकाश है और वह बनारस (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है।

इस मामले में नई दिल्ली जिले के डीसीपी दीपक यादव का कहना है कि मौके से दो बोतल मिली है जिसमें एक में केरोसिन और दूसरे में पेट्रोल है। इसने पास के दो लाइटर भी मिले हैं। इससे समझा जा सकता है कि वे प्लानिंग के साथ आत्महत्या करने सुप्रीम कोर्ट आए थे।