नशे के लिए अपनी मां की हत्या करने वाले को अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

जब मां ने पैसे देने से इंकार की तो उसने मां को पत्थर से मारकर मौत की घाट उतार दिया था। घटना के बाद अभियुक्त की बहन लगन देवी ने इटकी थाना में नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

रांचीः रांची सिविल कोर्ट ने एक कलयुगी बेटे को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। कलयुगी पुत्र दशरथ महली ने अपनी मां की हत्या इसलिए कर दी कि उन्होंने नशे के लिए पैसे नहीं दिए।

अपर न्यायायुक्त विजय कुमार श्रीवास्तव की अदालत ने मां की हत्या करने के जुर्म में बेटा दशरथ महली को दोषी पाकर उम्र कैद की सजा सुनाई है।

उसने अपनी मां की हत्या नशे की हालत में किया था। वह नशापान का आदी था। जो हमेशा अपनी मां से नशा के लिए पैसे की मांग करता था।

इसे भी पढ़ेंः नाबालिग से दुष्कर्म मामले में दो आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा

जब मां ने पैसे देने से इंकार की तो उसने मां को पत्थर से मारकर मौत की घाट उतार दिया था। घटना के बाद अभियुक्त की बहन लगन देवी ने इटकी थाना में नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

मामले में सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से आठ गवाही दर्ज की गयी थी। जिसके आधार पर अदालत ने घटना को सही पाते हुए उम्र कैद की सजा सुनायी।

Most Popular

मनी लाउंड्रिंग मामले में आरोपी पूर्व मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी के पीए मनोज कुमार को मिली जमानत

रांचीः झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस रंगोन मुखोपाध्याय की अदालत में पूर्व मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी के पीए मनोज कुमार की जमानत पर...

सुप्रीम कोर्ट ने दुष्कर्म के आरोपी से पीड़िता की शादी करने की बात को नकारा, सीजेआई ने कहा- गलत रिपोर्टिंग हुई

नई दिल्लीः दुष्कर्म के आरोपी को पीड़िता से शादी करने के लिए कहने वाली बात को सुप्रीम कोर्ट ने नकारते हुए कहा कि...

शिक्षक नियुक्तिः हाई कोर्ट ने कहा- जेएसएससी का निर्णय सही, खारिज की याचिका

रांचीः झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी की अदालत में हाई स्कूल शिक्षक नियुक्ति मामले में उम्र को चुनौती देने...

सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों से पूछा- 50 फीसद से ज्यादा आरक्षण देना सही या नहीं?

नई दिल्ली। मराठा आरक्षण (Maratha reservation) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सोमवार को सभी राज्य सरकारों को नोटिस जारी कर...