झारखंड की कचहरी में 15 दिनों में होगी आमने-सामने की सुनवाई, झारखंड हाईकोर्ट का बड़ा फैसला

हालांकि फिजिकल सुनवाई शुरु करने में 15 दिनों का समय अभी लगेगा। जिन जिलों में कोरोना का संक्रमण अधिक होगा वहां फिजिकल कोर्ट की संख्या कम होगी और कम संक्रमण वाले जिलों में फिजिकल सुनवाई के लिए अधिक कोर्ट बनाए जाएंगे।

रांचीः झारखंड की अदालतों (Jharkhand Court) में अब प्रत्यक्ष सुनवाई होगी। फिजिकल (Physical Corut Open) सुनवाई पर शुक्रवार को हाईकोर्ट कोर कमेटी और झारखंड बार काउंसिल के प्रतिनिधिमंडल के बीच वार्ता के बाद सहमति बनी।

हालांकि फिजिकल सुनवाई शुरु करने में 15 दिनों का समय अभी लगेगा। जिन जिलों में कोरोना का संक्रमण अधिक होगा वहां फिजिकल कोर्ट की संख्या कम होगी और कम संक्रमण वाले जिलों में फिजिकल सुनवाई के लिए अधिक कोर्ट बनाए जाएंगे।

फिजिकल कोर्ट की प्रक्रिया शुरू होने के बाद इसकी समीक्षा भी की जाएगी। सब कुछ सामान्य रहने पर दो माह बाद नियमित कोर्ट किया जा सकता है। हाईकोर्ट सहित सभी अदालतों में यह व्यवस्था लागू होगी।

इसे भी पढ़ेंः Lalu Yadav News: लालू के मामले में झारखंड हाईकोर्ट की टिप्पणी, सरकार कानूनी से चलती है, व्यक्ति विशेष से नहीं

इस दौरान सभी को सरकार और हाईकोर्ट की ओर से जारी गाइड लाइन का पालन करना जरूरी होगा।
वार्ता के दौरान बार काउंसिल ने वर्चुअल कोर्ट से वकीलों को होने वाली परेशानी से अवगत कराया।

इस दौरान जिला अदालतों के वकीलों की खराब आर्थिक स्थिति की जानकारी दी गयी। इस पर हाईकोर्ट कोर कमेटी की ओर से भी सहमति दी गयी और जरूरी एहतियात के साथ चरणबद्ध तरीके से जिला अदालतों में भी फिजिकल सुनवाई पर सहमति बनी।

हाईकोर्ट कोर कमेटी की ओर से चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन, जस्टिस एचसी मिश्र और जस्टिस आनंद सेन और काउंसिल के चेयरमैन राजेंद्र कृष्णा, उपाध्यक्ष राजेश शुक्ला, बार काउंसिल ऑफ इंडिया में झारखंड के प्रतिनिधि प्रशांत कुमार सिंह, राधेश्याम गोस्वामी, गोपेश्वर झा एवं अन्य शामिल हुए।


हाईकोर्ट में 11 जनवरी को होगा ट्रायल
झारखंड हाईकोर्ट में 11 जनवरी को एक खंडपीठ फिजिकल सुनवाई करेगी। इस बेंच का गठन परीक्षण के तौर पर किया गया है। इस बेंच में जस्टिस एचसी मिश्र और जस्टिस राजेश कुमार सुनवाई करेंगे।

यह बेंच इस दिन सप्लीमेंटरी लिस्ट में सूचीबद्ध दस मामलों की सुनवाई करेगी। सप्लीमेंटरी लिस्ट की मामलों की सुनवाई पूरी करने के बाद यह खंडपीठ भी वर्चुअल सुनवाई करेगी।

हाईकोर्ट में आठ कोर्ट रूम तैयार
फिजिकल सुनवाई के लिए झारखंड हाईकोर्ट में कोर्ट रूम तैयार किए गए हैं। हर न्यायालय कक्ष को शीशे के तीन लेयर से घेरा गया है। जजों के टेबल के सामने, कोर्ट मास्टर और पेशकार के सामने शीशा का घेरा लगाया गया है।

दोनों पक्षों को वकील जहां से बहस करते हैं वहां भी शीशे का केबिन बनाया गया है। इसी प्रकार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कोर्ट रूम में छह से आठ वकीलों के ही बैठने की व्यवस्था कर पूरी कर ली गयी है।

Most Popular

छात्रों को निकालने का मामलाः HC ने कहा कि स्कूल छात्रों को वापस लेने पर विचार कर सकती है

रांचीः हजारीबाग के सेंट जेवियर स्कूल से निकाले गए छात्रों के मामले में सुनवाई करते हुए झारखंड हाई कोर्ट ने कहा है...

दुमका कोषागार मामलाः लालू प्रसाद ने हाईकोर्ट से जमानत पर जल्द सुनवाई की लगाई गुहार

रांचीः (Chara Ghotala) चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे (Lalu Yadav) लालू प्रसाद ने (Jharkhand High Court) झारखंड हाई कोर्ट में...

Lalu Yadav Health Update: बेहतर इलाज के लिए लालू प्रसाद भेजे जा सकते हैं दिल्ली एम्स

रांचीः Lalu Prasad Yadav Health Update बेहतर इलाज के लिए लालू प्रसाद यादव को रिम्स (RIMS) से दिल्ली स्थित (Delhi AIIMS) एम्स...

Lalu Yadav News: लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में हाईकोर्ट ने गृह विभाग से मांगा जवाब

रांचीः Lalu Prasad Yadav चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में अब पांच फरवरी...