राहतः इलाहाबाद हाईकोर्ट में 14 जुलाई से शुरू होगी खुली अदालत में सुनवाई

वर्चुअल (Online) सुनवाई से वकीलों को हो रही परेशानी और इसे लेकर उनके आंदोलन को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 14 जुलाई से खुली अदालत (Physical Hearing) में मुकदमों की सुनवाई करने का फैसला लिया है।

217
Allahabad high court

Prayagraj: इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) के अधिवक्ताओं को लिए खुशखबरी है। वर्चुअल (Online) सुनवाई से वकीलों को हो रही परेशानी और इसे लेकर उनके आंदोलन को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 14 जुलाई से खुली अदालत (Physical Hearing) में मुकदमों की सुनवाई करने का फैसला लिया है।

उक्त जानकारी हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के महासचिव प्रभाशंकर मिश्र ने दी। उन्होंने बताया की खुली अदालत में सुनवाई की मांग को लेकर वकील शुरू से ही आंदोलन कर रहे हैं। क्योंकि वर्चुअल सुनवाई में लिंक न मिल पाने और तमाम वकीलों के इससे व्यवस्था से परिचित ना होने की वजह से कई तरीके की समस्याएं पैदा हो रही थीं।

इसे भी पढ़ेंः हाईकोर्ट ने कहा- प्राइमरी के प्रधानाचार्य और जूनियर हाईस्कूल के सहायक अध्यापक का कैडर समान

इन समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से पिछले दिनों बातचीत की गई थी। उन्होंने आश्वासन दिया था कि वकीलों की समस्याओं का शीघ्र ही निराकरण किया जाएगा। इसके बाद हाईकोर्ट प्रशासन ने 14 जुलाई से खुली अदालत में सुनवाई करने का निर्णय लिया है।

हालांकि कोरोना संकट को देखते हुए सुनवाई की व्यवस्था किस तरीके से लागू की जाएगी, इस पर एक-दो दिन में निर्णय होने तथा गाइडलाइन जारी होने की उम्मीद है। बता दें कि लॉकडाउन खोलने के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट में मुकदमों की सुनवाई को शुरू हुई।

लेकिन ऑनलाइन मोड में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये ही मामलों की सुनाई हो रही है। इस व्यवस्था से तमाम वकीलों की काफी शिकायतें हैं। उनका कहना है कि ऑनलाइन सुनवाई में कई बार लिंक नहीं मिल पाता जिससे उनके मुकदमे पासओवर हो जाते हैं और उनमें डेट लग जाती है। वहीं कई वकील ऐसे भी हैं जो ऑनलाइन सिस्टम से परिचित नहीं है। मुवक्कील भी इस व्यवस्था से परेशान हैं।