processApi - method not exist
Home high court news Lalu Yadav News: लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में हाईकोर्ट ने...

Lalu Yadav News: लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में हाईकोर्ट ने गृह विभाग से मांगा जवाब

जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने रिम्स की ओर से मेडिकल रिपोर्ट दाखिल नहीं करने पर रिम्स को रिमांइडर भेजने का निर्देश दिया है। अब इस मामले में पांच फरवरी को सुनवाई होगी।

रांचीः Lalu Prasad Yadav चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में अब पांच फरवरी को सुनवाई होगी। इस दौरान अदालत ने संसोधित एसओपी (SOP) पर हुए निर्णय की जानकारी गृह विभाग से मांगी है।

इस दौरान जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने रिम्स (RIMS) की ओर से मेडिकल रिपोर्ट दाखिल नहीं करने पर रिम्स को रिमांइडर भेजने का निर्देश दिया है। अब इस मामले में पांच फरवरी को सुनवाई होगी।

अदालत ने जेल आईजी की ओर से दाखिल रिपोर्ट का अवलोकन किया। इसमें कहा गया है कि जेल से बाहर कैदियों के इलाज के दौरान सुरक्षा सहित अन्य सुविधाओं के बारे में संसोधन किया जा रहा है।

उक्त एसओपी को गृह विभाग भेजा गया है। वहां से अप्रूवल मिलने में दो सप्ताह का समय लग सकता है। ऐसे में सरकार की ओर से अदालत से समय की मांग की गई।

अदालत ने सुनवाई के दौरान पूछा कि लालू की सुरक्षा के लिए कितने पुलिस बल की तैनाती की गई है। इस पर कहा गया कि तीन पालियों में दो पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं और मजिस्ट्रेट भी तैनात है।

अदालत ने पूछा कि मजिस्ट्रेट को क्यों तैनात किया गया है। इस पर अपर महाधिवक्ता आशुतोष आनंद ने कहा कि अगर किसी प्रकार की कानून व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न होती है, तत्काल निर्णय के लिए ऐसा किया गया है।

इस पर अदालत ने कहा कि आप कहना चाहते हैं कि अस्पताल परिसर में लालू के समर्थकों की भीड़ को देखते हुए ऐसा किया गया है। इस पर आशुतोष आनंद ने कहा कि ऐसा नहीं है।

लालू प्रसदा जहां भर्ती हैं, अगर वहां किसी प्रकार की स्थिति उत्पन्न होती है, तो उसके लिए मजिस्ट्रेट तैनात किया गया है। बता दें कि सितंबर माह से मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है।

दरअसल, लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लेते हुए जेल आईजी और रिम्स प्रबंधन से रिपोर्ट मांगी है।

RELATED ARTICLES

RTI: हाईकोर्ट ने कहा- सही समय पर सूचना नहीं देने पर सूचना आयोग के हर्जाने का आदेश बिल्कुल सही

Ranchi: RTI News झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य सूचना आयोग के उस आदेश को बरकरार रखा है, जिसमें आयोग की ओर से सही समय...

Promotion: हाईकोर्ट ने पूछा- एसडीओ पद पर प्रोन्नति की अधिसूचना जारी होगी या नहीं, स्थिति स्पष्ट करे सरकार

Ranchi: Promotion झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में डिप्टी कलेक्टर से एसडीओ (SDO) पद पर...

Land dispute: हाईकोर्ट ने कहा- राहत बढ़ाने के लिए दाखिल करें आवेदन, पूर्व डीजीपी की पत्नी पूनम पांडेय से जुड़ा मामला

Ranchi: Land dispute झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में राज्य के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

RTI: हाईकोर्ट ने कहा- सही समय पर सूचना नहीं देने पर सूचना आयोग के हर्जाने का आदेश बिल्कुल सही

Ranchi: RTI News झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य सूचना आयोग के उस आदेश को बरकरार रखा है, जिसमें आयोग की ओर से सही समय...

Promotion: हाईकोर्ट ने पूछा- एसडीओ पद पर प्रोन्नति की अधिसूचना जारी होगी या नहीं, स्थिति स्पष्ट करे सरकार

Ranchi: Promotion झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में डिप्टी कलेक्टर से एसडीओ (SDO) पद पर...

Land dispute: हाईकोर्ट ने कहा- राहत बढ़ाने के लिए दाखिल करें आवेदन, पूर्व डीजीपी की पत्नी पूनम पांडेय से जुड़ा मामला

Ranchi: Land dispute झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में राज्य के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय...

Police appointment: चार हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने दाखिल की हस्तक्षेप याचिका, 29 नवंबर को होगी सुनवाई

Ranchi: Police appointment झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में सिपाही नियुक्ति नियमावली को चुनौती...