पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की जमीन की जमाबंदी रद करने के मामले में हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

जमीन की प्रकृति गैरमजरूआ परती हैं। सरकारी जमीन होने के कारण इसकी जमाबंदी नहीं हो सकती है।

रांची। झारखंड के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में Former DGP DK Pandey पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय के नाम से खरीदी गई जमीन की जमाबंदी रद करने के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद अदालत ने इस मामले में राज्य सरकार से जवाब मांगा है। साथ ही अदालत ने एक दूसरे मामले के साथ इस केस को टैग करने का आदेश दिया है।

इसको लेकर पूनम पांडेय ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है। डीजीपी की पत्नी पूनम पांडेय ने कांके अंचल के चामा मौजे में जमीन की खरीदारी की है। आरोप है कि उक्त जमीन गैरमजरूआ परती है और जमीन की अवैध तरीके से जमाबंदी कराई गई है।

इसे भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट का फैसला, संदेह कितना भी मजबूत हो, सबूत नहीं बन सकता, जानिए पूरा मामला

इसको लेकर कांके सीओ की ओर से पूनम पांडेय एक नोटिस भेजा गया है। इसमें कहा गया है। जमीन की प्रकृति गैरमजरूआ परती हैं। सरकारी जमीन होने के कारण इसकी जमाबंदी नहीं हो सकती है। क्यों आपकी जमाबंदी रद कर दी जाए। पूनम पांडे की ओर से उक्त नोटिस को हाईकोर्ट में चुनौती देते हुए उसे रद करने की मांग की गई है।

Most Popular

दारोगा बहालीः पीटी परीक्षा में आरक्षण की मांग वाली याचिका हाईकोर्ट ने की खारिज

Ranchi: झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत में दारोगा नियुक्ति की प्रारंभिक परीक्षा...

सड़क निर्माण के लिए पेड़ काटने जाने पर हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

Ranchi: मझियांव- कांडी सड़क निर्माण के लिए पेड़ों की गलत तरीके से हो रही कटाई को लेकर दायर जनहित याचिका पर सुनवाई...

खूंटी में मनरेगा में गड़बड़ी मामले में राज्य सरकार से हाईकोर्ट ने मांगा जवाब

Ranchi: खूंटी जिले में मनरेगा की योजनाओं में हुई गड़बड़ी की जांच के लिए दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए झारखंड...

खाद्य पदार्थ में मिलावट पर सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों के वकील से पूछा- क्‍या मिलावटी गेहूं खाएंगे..!

New Delhi: food adulteration सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने खाद्य पदार्थ में मिलावट के एक मामले में आरोपी मध्य प्रदेश के दो...