एनटीपीसी जमीन अधिग्रहण मामले में पूर्व मंत्री योगेंद्र साव को नहीं मिली जमानत, हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

रांचीः झारखंड के पूर्व मंत्री योगेंद्र साव को झारखंड हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। जस्टिस रंगन मुखोपाध्याय की अदालत ने योगेंद्र साव को जमानत देने से इन्कार करते हुए याचिका खारिज कर दी। योगेंद्र साव की ओर से हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की गई थी।

सुनवाई के दौरान योगेंद्र साव के अधिवक्ता ने अदालत को बताया कि एनटीपीसी जमीन अधिग्रहण मामले में प्राथमिकी दर्ज कराने वाले ने अपनी गवाही में कहा है कि वे घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे, जब पुलिस के साथ लोगों को झड़प हुई थी।

इसे भी पढ़ेंः अधिकारियों की मिलीभगत से रांची में 17 सौ गैरमजरूआ जमीन की हुई रजिस्ट्री, याचिका दाखिल कर एसीबी से जांच की मांग

इसके अलावा योगेंद्र साव इस मामले में दो साल दस माह जेल में रह चुके हैं। ऐसे में उन्हें जमानत की सुविधा मिलनी चाहिए। इस पर अदालत ने उन्हें जमानत की सुविधा प्रदान नहीं की जा सकती है, क्योंकि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही इनकी जमानत खारिज कर चुका है।

इसलिए हाईकोर्ट भी इस मामले में योगेंद्र साव के जमानत नहीं दे सकती है। इसके बाद अदालत ने उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया। गौरतलब है कि हजारीबाग के बड़कागांव में एनटीपीसी के लिए जमीन अधिग्रहण किया जा रहा था। इसके विरोध में योगेंद्र साव के नेतृत्व में सत्याग्रह आंदोलन चलाया गया था।

इस दौरान ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प हुई थी। इस मामले में योगेंद्र साव फिलहाल जेल में बंद हैं।

Most Popular

आक्सीजन व दवाओं के हाहाकार पर सुप्रीम कोर्ट की चिंता, कहा- इमरजेंसी जैसे हालात

New Delhi: कोरोना संक्रमण के बीच लोगों को ऑक्सीजन और दवाइयों नहीं मिलने पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती दिखाई है। सुप्रीम...

दिल्ली हाई कोर्ट ने गोपनीयता नीति की जांच के खिलाफ दाखिल व्हाट्सऐप व फेसबुक की याचिका खारिज की

New Delhi: दिल्ली हाई कोर्ट ने व्हाट्स ऐप की नई गोपनीयता नीति की जांच करने के भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) के...

स्वास्थ्य सचिव कोरोना संक्रमित, जवाब दाखिल करने के लिए हाईकोर्ट से मांगा समय

Ranchi: झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अदालत में गुरुवार को कोरोना संक्रमण से निपटने...

Corona Good News: झालसा ने हर जिले में बनाया वार रूम, फ्री में मिलेंगी दवाएं और चिकित्सकीय सलाह

Ranchi: कार्यकारी अध्यक्ष जस्टिस अपरेश कुमार सिंह के निर्देश पर झालसा ने कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण में इलाज को लेकर परेशान...