processApi - method not exist
Home Civil Court News सामूहिक दुष्कर्म में कोर्ट ने चार नाबालिग को सुनाई आजीवन की कारावास...

सामूहिक दुष्कर्म में कोर्ट ने चार नाबालिग को सुनाई आजीवन की कारावास सजा

अदालत ने नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म में चार नाबालिग को दोषी ठहराते हुए उन्‍हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई।


रांची: रांची पोक्सो सह चिल्ड्रेन की विशेष अदालत की ने नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्‍कर्म करने के आरोपी चार नाबालिग को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। अदालत ने नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म में चार नाबालिग को दोषी ठहराते हुए उन्‍हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

यह मामला रांची के चान्हो थाना क्षेत्र का है। 4 मार्च 2018 को जब पीड़िता शाम के समय शौच के लिए घर से दूर गई थी, तो गांव के ही छह नाबालिगों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इस मामले में पीड़िता के बयान पर छह नाबालिगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

इसके बाद नाबालिगों का मामला जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड (जेजे बोर्ड) में भेजा गया। वहां से 16 वर्ष से अधिक उम्र के चार आरोपियों के मामले की सुनवाई के लिए पोक्सो सह चिल्ड्रेन की विशेष अदालत में स्थानांतरित कर दिया गया। 

इसे भी पढ़ेंः हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा, राज्य में कितने वन आरक्षी का पद है रिक्त

16 साल से कम उम्र वाले दो आरोपियों की सुनवाई जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में ही हुई। दो नाबालिगों को जेजे बोर्ड ने 7 जून 2019 को 10-10 हजार रुपये जुर्माना व आगे से किसी भी प्रकार के अपराध में न शामिल होने का बाउंड भरवा कर रिहा कर दिया था।

इस मामले में मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से पीड़िता, पीड़िता के मां-पिता, चिकित्सक व केस के जांच अधिकारी की गवाही कराई गई थी। बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता ने उक्त फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है। 

RELATED ARTICLES

ईडी को ललकारने वाले सीएम हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा से छह दिन होगी पूछताछ

अवैध खनन और टेंडर मैनेज करने से जुड़े मनी लाउंड्रिंग मामले में गिरफ्तार मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा...

जांच अधिकारी ने नहीं दी गवाही, पूर्व मंत्री योगेंद्र साव और पूर्व विधायक निर्मला देवी साक्ष्य के अभाव में बरी

पूर्व मंत्री योगेंद्र साव और उनकी पत्नी पूर्व विधायक निर्मला देवी समेत चार आरोपी को अदालत ने पर्याप्त साक्ष्य के अभाव में...

Convicted: दोस्त पर भरोसा कर पत्नी को घर पहुंचाने को कहा, लेकिन दोस्त ने पिस्टल की नोक पर किया दुष्कर्म; अदालत ने माना दोषी

Ranchi: Convicted: अपर न्यायायुक्त दिनेश राय की अदालत में अपने ही दोस्त की पत्नी का अपहरण कर पिस्टल का भय दिखाकर दुष्कर्म...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

जेएसएससी नियुक्ति में राज्य के संस्थान से 10वीं व 12वीं की परीक्षा पास होने की अनिवार्य शर्त पर झारखंड सरकार कायम

झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डा रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की खंडपीठ में जेपीएससी परीक्षा नियुक्ति में दसवीं और...

ईडी को ललकारने वाले सीएम हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा से छह दिन होगी पूछताछ

अवैध खनन और टेंडर मैनेज करने से जुड़े मनी लाउंड्रिंग मामले में गिरफ्तार मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा...

6th JPSC Exam: सुप्रीम कोर्ट में बोली झारखंड सरकार, नौकरी से निकाले गए 60 को नहीं कर सकते समायोजित

6th JPSC Exam: छठी जेपीएससी नियुक्ति को लेकर झारखंड हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एसएलपी पर सुनवाई...

जांच अधिकारी ने नहीं दी गवाही, पूर्व मंत्री योगेंद्र साव और पूर्व विधायक निर्मला देवी साक्ष्य के अभाव में बरी

पूर्व मंत्री योगेंद्र साव और उनकी पत्नी पूर्व विधायक निर्मला देवी समेत चार आरोपी को अदालत ने पर्याप्त साक्ष्य के अभाव में...