Home Civil Court News रांची सिविल कोर्ट के अधिवक्ता चार अगस्त से करेंगे न्यायिक कार्य

रांची सिविल कोर्ट के अधिवक्ता चार अगस्त से करेंगे न्यायिक कार्य

रांची। रांची सिविल कोर्ट के अधिवक्ताओं ने जिला बार भवन खोलने का आग्रह किया है। इस संबंध में अधिवक्ताओं ने बार एसोसिएशन के महासचिव कुन्दन प्रकाशन को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि सिविल कोर्ट में सामान्य कामकाज नहीं हो रहा है और अधिवक्ता केस फाइलिंग व अन्य कार्यों के लिए कोर्ट आते हैं, तो उन्हें बैठने की जगह नहीं मिलती है। ऐसे में बार भवन को खोला जाना चाहिए।

महासचिव कुंदन प्रकाशन ने उस पत्र को प्रधान न्यायायुक्त नवनीत कुमार को भेज दिया है। ताकि इस पर हाई कोर्ट का मंतव्य लिया जा सके। ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण के बाद हाई कोर्ट के निर्देश पर ही जिला बार भवन मार्च में ही लॉक किया गया था। ऐसे में इसे खोलने के लिए हाई कोर्ट के निर्देश जरूरत है। तभी बार भवन अधिवक्ताओं को बैठने के लिए खोला जा सकेगा।

कुन्दन प्रकाशन ने बताया कि अधिवक्ताओं का कहना है कि केस फाइलिंग या अन्य कार्यो से वे सिविल कोर्ट आते हैं तो उनके लिये बैठने की कोई व्यवस्था नहीं होती है। जिस कारण उन्हें सड़कों पर खड़ा रहना पड़ता है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए बार एसोसिएशन के सदस्यों ने दो सप्ताह के लिए न्यायिक कार्य से दूर रहे। अब चार अगस्त से अधिवक्ता फिर से न्यायिक कार्य प्रारंभ करेंगे। प्रशासनिक सचिव पवन रंजन खत्री ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए अधिवक्ता सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए न्यायिक कार्य करने का आग्रह अधिवक्ताओं से किया। कहा कि सिविल कोर्ट परिसर में बेवजह भीड़ नहीं लगाएं। ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हाथरथ मामले की सीबीआई जांच की निगरानी करेगा इलाहाबाद हाईकोर्ट

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले की एक दलित लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और फिर...

हाईकोर्ट ने सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की मांगी सूची

जबलपुर। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने राज्य में पूर्व और मौजूदा सांसदों व विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की सूची मांगी है।...

झारखंड के कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले में पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को तीन साल की सजा

दिल्ली। दिल्ली स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को झारखंड के कोयला ब्लॉक के आवंटन में घोटाला...

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल को राहत, सीएम आवास का किराया भुगतान नहीं करने पर चल रही अवमानना की कार्यवाही पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बंगलों के लिए पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा किराए का भुगतान न करने के मामले में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल...

Recent Comments