टूलकिट मामलाः दिशा रवि तीन दिन की न्यायिक हिरासत में, शनिवार को जमानत पर सुनवाई

पुलिस (Delhi Police) ने कहा कि दिशा रवि अपने जवाब देने से कतरा रही है, इसलिए उनको 3 दिन के लिए ज्यूडिशियल कस्टड़ी में भेजा जाए। दिल्ली पुलिस ने फिलहाल दिशा रवि की पुलिस रिमांड बढ़ाने की मांग नहीं की।

नई दिल्ली: पटियाला हाउस कोर्ट ने दिशा रवि (Disha Ravi) को तीन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अदालत ने दिल्ली पुलिस की की मांग को मंजूर कर लिया है। दिशा रवि की पांच दिन बाद अदालत में पेश किया गया था।

पुलिस (Delhi Police) ने कहा कि दिशा रवि अपने जवाब देने से कतरा रही है, इसलिए उनको 3 दिन के लिए ज्यूडिशियल कस्टड़ी में भेजा जाए। दिल्ली पुलिस ने फिलहाल दिशा रवि की पुलिस रिमांड बढ़ाने की मांग नहीं की।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि वह 22 फरवरी को दिशा रवि, शांतनु मुलुक और निकिता जैकब को एक साथ बिठाकर आमना-सामना कराना चाहती है, लिहाजा 22 फरवरी को इसकी जरूरत पड़ेगी। इसलिए आरोपी को जेल भेज दिया जाए।

इसे भी पढ़ेंः चीन ने पहली बार माना, गलवान घाटी में उसके मारे गए पांच सैन्य अधिकारी

पुलिस का कहना है कि दिशा रवि ने सारा दोष निकिता और शांतनु पर मढ़ा है। इसलिए शांतनु मुलुक को दिल्ली पुलिस ने नोटिस भेजकर पूछताछ में शामिल होने को कहा है। 22 फरवरी को पुलिस आमने-सामने पूछताछ करेगी।

दिशा रवि की तरफ से जमानत की याचिका दाखिल की गई है। इस पर शनिवार को पटियाला हाउस कोर्ट होगी। इस मामले में आरोपी वकील निकिता जैकब और शांतनु मुलुक को महाराष्ट्र में हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिल चुकी है।

Most Popular

सेवा सदन अस्पताल को तोड़ने के आदेश पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक, कहा सुनवाई कर नगर निगम फिर से आदेश परित करे

रांचीः झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस राजेश शंकर की अदालत में नागरमल मोदी सेवा सदन के भवन को अतिक्रमण बता कर उसे...

बेटी से छेड़खानी की शिकायत पर पिता की गोली मारकर हत्या, CM योगी ने रासुका लगाने का दिया निर्देश

हाथरस : उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के सासनी थाना क्षेत्र के नौजरपुर गांव में अमरीश को इसलिए गोली मारकर हत्या...

नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी से सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- क्या पीड़िता से करोगे शादी

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने एक नाबालिग लड़की से रेप के आरोपी से पूछा कि क्या वह पीड़िता से शादी करने को...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- लीव-इन-रिलेशनशिप में रहने वालों के बीच बने शारीरिक संबंध को क्या दुष्कर्म माना जाए

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले में सुनवाई करते हुए सवाल उठाया कि क्या लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वाले जोड़े के...